मां से नाराज होकर घर से भागी थी नाबालिग, स्टेशन पर किन्नरों के साथी ने किया जघन्य RAPE ,गिरफ्तार

बदरवास। खबर जिले के बदरवास थाना क्षेत्र से आ रही है। जहां बीते रोज एक नाबालिग किशोरी अपनी मां से नाराज होकर घर से भाग गई। उसके बाद उक्त किशोरी रेलवे स्टेशन पर पडी रही। जहां एक युवक ने नाबालिग को अकेली देख उसके साथ रेप की बारदात को अंजाम दिया। इस मामले की शिकायत पीडिता ने पुलिस थाना बदरवास में की। जहां पुलिस ने पीडिता की शिकायत पर आरोपी के खिलाफ रेप सहित अन्य धाराओं में मामला दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

जानकारी के अनुसार 13 फरवरी को ग्राम मदनपुर थाना बदरवास की रहने वाली नाबालिग आदिवासी लड़की उम्र 15 वर्ष अपनी मां से नाराज होकर रेलवे स्टेशन बदरवास पर आ गई थी। जिसे एक अज्ञात व्यक्ति ने बहला-फुसलाकर एक खेत में ले जाकर रेप की बारदात को अंजाम दिया।

इस मामले की शिकायत पीडिता ने अपने मां के साथ बदरवास पहुंचकर की। जिसपर पुलिस ने उक्त मामले में अज्ञात आरोपी के खिलाफ धारा 376,506 भादवि एवं 3/4 पोक्सो एक्ट का पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया जाकर आरोपी की तलाश शुरू की गई, नाबालिग बच्ची ने उसके साथ रेप की बारदात को अंजाम देने बाले आरोपी का हुलिया बताया।

जिसपर से पुलिस अधीक्षक शिवपुरी राजेश सिंह चंदेल एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक गजेंद्र सिंह कंवर ने मामले की गंभीरता से लेते हुए तत्काल एसडीओपी अमरनाथ वर्मा और थाना प्रभारी मनीष शर्मा मामले की जांच में जुट गए।

जब इस मामले में जानकारी जुटाई तो सामने आया कि इस क्षेत्र में बदरवास में ही रहने वाले खबरी उर्फ संतोष मेहतर घटना के बाद से फरार है और वह बताए गए हुलिए के हिसाब का ही है। जब इसका पता किया तो सामने आया कि वह किन्नरोें के साथ ढोलक बजाकर ट्रेनों में बीना भोपाल के बीच में मांगकर खाता रहता है। जिस बदरवास पुलिस ने आरपीएफ की मदद से बीना में गिरफ्तार कर लिया।

बताया गया है कि उक्त आरोपी की उम्र 42 साल है जिसके चार बच्चे भी है। उक्त आरोपी पहले तो पीडिता को खाना खिलाने के बहाने अपने साथ ले गया। उसके बाद उक्त आरोपी ने पीडिता को गए गड्डे में ले गया। जहां आरोपी ने वहां लेकर बडी बेरहमी से किशोरी के साथ रेप की बारदात को अंजाम दिया। जिससे किशोरी के प्रायवेट पार्ट बुरी तरह से छतिग्रस्त हो गया। जिसे पुलिस ने अपनी सक्रियता के चलते बमुश्किल गिरफ्तार किया है।

उक्त कार्यवाही में थाना प्रभारी बदरवास मनीष कुमार शर्मा , पी एस परमार,बी एल कुशवाह एसबी शर्मा, सत्येंद्र एवं आरक्षक महेश,सुनील, अनित राजू, रमेश एवं आरपीएफ बीना प्रभारी विपिन कुमार एवं आरपीएफ आरक्षक देव कुमार लल्लन शर्मा का विशेष योगदान रहा।