खबर का असर: मौत का इंजेक्शन लगाने बाले झोलाछाप के गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज | kolaras News

कोलारस। खबर जिले के कोलारस अनुविभाग के लुकवासा क्षेत्र की है। जहां बीते रोज एक झोलाछाप डॉ द्धारा मरीज को इंजेक्शन लगाकर उसकी जान लेने बाले झोलाछाप पर पुलिस ने जांच के बाद गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज कर लिया है। इस मामले को सबसे पहले शिवपुरी समाचार डॉट कॉम ने प्रमुखता से प्रकाशित किया था। इस खबर प्रकाशन के बाद प्रशासन अलर्ट हुआ और मामले में जांच के आदेश जारी हुए।

जानकारी के अनुसार बीते 13 जनवरी 2020 को रिजौदा गांव गणेशराम केवट पुत्र रामबाबू केवट उम्र 30 साल को तेज बुखार था और डॉक्टर ने उसे तेज बुखार में ही इंजेक्शन लगा दिया और गोली दवांई देे कर घर जाने को कहा। गणेशराम घर पहुंचा जैसे ही उसकी तबीयत अचानक से फिर खराब होने लगी थी।

लेकिन इस बार वहां ईलाज के लिए वहा नही आ पाया उसकी घर पर ही मौत हो गई। परिजनो ने इसकी सूचना लुकवासा चौकी पुलिस को दी,पुलिस ने इस मामलें में विवेचना शुरू कर की थी। इस मामले को शिवपुरी समाचार डॉट कॉम ने झोलाछाप डॉक्टर गिर्राज श्रीवास्तव के इंजेक्शन से युवक की मौत | kolaras news नामक शीर्षक से प्रमुखता से प्रकाशित किया था।

इस खबर प्रकाशन के बाद शिवपुरी समाचार डॉट कॉम ने उक्त पूरे मामले में सीएमएचओ को भी घेरा था। जिसके चलते सीएमएचओं ने आनन फानन में मामले की जांच के आदेश जारी कर दिए। उसके बाद उक्त झोलाछाप ने तत्काल मृतक के परिजनों की शरण ली। जिन्हें रूपए देने का भी लालच उक्त झोलाछाप ने दिया था। परंतु परिजन अपनी बात पर अडिग रहे और इसी के चलते उक्त आरोपी पर पुलिस ने प्रताप पुत्र खेरू केवट की शिकायत पर आरोपी डॉ गिर्राज श्रीवास्तव के खिलाफ गैर इरादतन हत्या की धारा 304 ए के तहत मामला दर्ज कर विवेचना में ले लिया है।

लेकिन इस मामले में सबसे अहम बात यह है कि इस घटनाक्रम के बाद उक्त झोलाछाप लुकवासा में अपनी क्लीनिक खोलकर शिवपुरी के एक प्रायवेट चिक्तिसालय में अपनी सेबाए देने लगा। उसके बाद जब मामला ठंडा हुआ तो उक्त आरोपी झोलाछाप फिर से ग्रामीण अंचल केे पडौरा और सुरवाया में अलग अलग क्लीनिक खोलकर मौत का इंजेक्शन लगा रहा है। जब इस तरह की कार्यवाही के बाद भी उक्त झोलाछाप की क्लीनिक प्रशासन बंद नहीं करा पाया तो इससे ज्यादा शर्मनाक बात प्रशासन के लिए क्या होगी।