महाराज को नही बनाया अध्यक्ष तो प्रदेश महासचिव देंगें अपना इस्तीफा | khaniyadhana News

खनियांधाना। पूर्व सांसद एवं कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया को प्रदेश कांग्रेस कमेटी की कमान सौंपने की मांग दिनों दिन बढ़ती जा रही है तथा इसमें हो रही देरी के खिलाफ केंद्रीय नेतृत्व के प्रति कार्यकर्ताओं तथा पदाधिकारियों में असंतोष भी बढ़ने लगा है।

शनिवार को खनियाधाना जनपद पंचायत के पूर्व अध्यक्ष तथा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महासचिव प्रह्लाद सिंह यादव ने अपने निवास पर आयोजित पत्रकार वार्ता में घोषणा की कि यदि सिंधिया को प्रदेश कांग्रेस कमेटी का अध्यक्ष नहीं बनाया जाता है तो वह अपने पद से इस्तीफा दे देंगे।

कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी को लिखे पत्र में यादव ने लिखा है कि आज कांग्रेस वैसे ही संक्रमण काल से गुजर रही है उसमें आग में घी डालने जैसा कार्य मध्यप्रदेश शीर्ष नेतृत्व में गुटबाजी कर आम कार्यकर्ता को आहत करने का कार्य किया जा रहा है।

विधानसभा चुनाव में अन्य क्षेत्रों की अपेक्षा ग्वालियर चंबल चंबल संभाग से कांग्रेस को मजबूत जनादेश दिला कर पुन? मध्यप्रदेश में कांग्रेस सरकार बनाने में निर्णायक भूमिका अदा करने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया को भी गुटबाजी का शिकार होना पड़ रहा है तथा प्रदेश अध्यक्ष जैसे महत्वपूर्ण पद के लिए उनकी दावेदारी को दरकिनार किए जाने से कार्यकर्ताओं में भारी असंतोष है।

यदि सिंधिया को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नहीं बनाया गया तो वह अपने महासचिव पद से त्यागपत्र दे देंगे और मेरी 40 वर्षों से पार्टी की सेवा व त्याग को आघात पहुंचेगा। पत्रकारों द्वारा यह सवाल पूछने पर कि यदि सिंधिया ने पार्टी छोड़ दी तो वह क्या करेंगे तो उन्होंने कहा कि हम पूरी तरह सिंधिया के साथ हैं तथा जो सिंधिया का निर्देश होगा हम उसी अनुरूप कार्य करेंगे।