Ads 720 x 90

मोदी लहर में गायब हो गया महल का जादू: सिंधिया की शर्मनाक हार, सिपाही से हार गए महाराजा | SHIVPURI NEWS

शिवपुरी। शिवुपरी-गुना लोकसभा सीट कांग्रेस की अजेय सीट मानी जाती थी,कारण यहां से सांसद सिंधिया कांग्रेस के प्रत्याशी होते थें। इस कारण इस सीट पर कांग्रेस अजेय मानी जाती थी। लेकिन देश में चल रही मोदी की मजबूत लहर में महल की मजबूत दिवारे ढह गई। अजेय माने जाने वाले महाराजा सिंधिया अपने ही सिपाही से हार गए।

भाजपा ने जब डॉ केपी यादव को अपना प्रत्याशी घोषित किया था,तब उन्है डमी प्रत्याशी माना जा रहा था। केपी यादव का चुनाव प्रचार भी अग्रेसिव नही रहा, ओर ना ही उन्होने सिंधिया पर हमले किए। बस मोदी और राष्ट्रबाद के नाम पर वोट मांगते रहे।

इस चुनाव में ज्येातिरादित्य एक भी राउंड में भाजपा के प्रत्याशी से आगे नही आए। सभी राउंड हारे। और तीनो जिलो की सभी विधानसभा में उन्है हार का समाना करना पडा है। जनता ने इस बार रिजल्ट चौकाने वाले दिए हैं। ऐसे रिजल्ट की उम्मीद स्वयं भाजपा के प्रत्याशी को नही होंगी।

पिछले बार ज्योतिरादित्य लगभग सवालाख वोटो से चुनाव जीते थे। इस बार  132249 वोटो से हार गए हैं। यह हार क्यो हुई मोदी लहर थी,राष्ट्रबाद पर वोट गया या सिंधिया ने पोस्टर वाज नेताओ पर भ्ररोसा किया। यह बाद का विषय हैं,लेकिन यह सत्य है कि सिंधिया की शर्मनाक हार हो चुकी है वो भी अपने ही एक सिपाही से। कहते है कि आदमी बडा नही होता है समय बलवान होता हैं,आज यह कहावत सत्य हुई हैं। 

Virus-free. www.avg.com