SHIVPURI NEWS - जिला पंचायत के उपाध्यक्ष अमित पडेरिया को मरीजों ने खूब खरी खोटी सुनाईं, अस्पताल से भगाया

Bhopal Samachar

पवन पाठक @ पिछोर। शिवपुरी जिला पंचायत के उपाध्यक्ष अमित पडेरिया अपने पिता की पुण्यतिथि पर मरीजों को फल वितरित करने के लिए बुधवार की सुबह पिछोर के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर पहुंचे थे,जैसे ही उन्होंने अस्पताल में भर्ती मरीजों को फल वितरित करना शुरू किया तो मरीज और उनके अटेंडरों ने नेताजी को घेर लिया और अस्पताल की सौ समस्या सुना दी,मौके की नजाकत को देखते हुए नेताजी ने अस्पताल का निरीक्षण कर दिया और अस्पताल की समस्याओं पर शिवपुरी सीएमएचओ डॉ पवन जैन से बात की।

मरीजों और उनके अटेंडरों ने जिला पंचायत उपाध्यक्ष अमित पडेरिया से कहा कि फल वितरित करना अच्छी बात है लेकिन उससे भी अच्छी बात होती कि इस अस्पताल में मरीजों को सुविधाएं प्राप्त होती। मरीजों ने नेताजी से कहा कि पीने का ठंडा पानी नही है इस उबलती गर्मी में उबला पानी कैसे पीए।

जहां शिवपुरी में लू को लेकर रेड अलर्ट है और अस्पताल के कूलर गर्म हवा दे रहे है यहां स्वस्थ आदमी बीमार हो जाए,मरीज कैसे सही होंगें। ठंडा पानी नहीं है मरीज और अटेंडर पैसा खर्च कर ठंडा पानी खरीद रहे है या अन्य किसी जगह से अपनी व्यवस्था कर रहे है। दवाएं भी नहीं मिल रही है।

अपने परिजन मनीषा साहू की डिलीवरी करने आए खनियाधाना के वीरेंद्र साहू एक और मरीज खुशबू के अटेंडर राहुल सेन, बानपुर निवासी राजूबाई,अच्छे लाल साहू, ग्राम पंचायत बनोटा निवासी मीरा, फुलियाबाई आदि ने बताया कि अस्पताल में पीने का पानी नहीं है कूलर पंखे भी लू की तरह गर्म हवाएं दे रहे हैं वहीं मौके पर ही जननी सुरक्षा योजना की राशि के लिए पिछले डेढ़ माह से भटकता रहा हूं।

बाचरौन निवासी शिशुपाल लोधी ने जिला उपाध्यक्ष और साथ में पहुंचे अन्य समाजसेवियों को अपनी पीड़ा व्यक्त करते हुए बताया कि जननी सुरक्षा योजना की राशि का लाभ लेने के लिए मैं कागज देने के लिए पिछले तीन दिनों से सुबह से शाम तक अस्पताल में बैठा रहता हूं ना तो कोई कागज लेने के लिए बाबू ही मिल रहा है ना कोई डॉक्टर और ना ही सीबीएमओ अधिकारी मेरी समस्या सुनने और कागज लेने के लिए ही कोई नहीं मिल रहा लाभ मिलना तो दूर की बात इसी बीच एक महिला स्वीपर मधु ने बताया कि उसे 8 माह से सफाई के कार्य की वेतन नहीं मिली इस संबंध में उसने डॉ भदकारिया से बात की तो डॉ ने कहा बैठ कर बात कर लेंगे अब ना वह बैठते हैं ना बात करते हैं।  

समाज सेवा करने पहुंचे अमित पड़रिया ने जब लोगों की परेशानियों को सुना तो अस्पताल के मुखिया सीबीएमओ डॉ रोहित भदकारिया से रूबरू बात करना ठीक समझा और उनके कार्यालय की और रुख किया रास्ते में पढ़ने वाले रसोई घर को देखा तो रोटियां खुले में प्लास्टिक की बोरी पर रखी हुई थी कार्यालय में पहुंचे तो रोहित भदकारिया के साथ कंप्यूटर ऑपरेटर तथा अन्य बाबू ही नदारत थे।

ऑफिस की कुर्सियां खाली पड़ी थी मौके से मुख्य चिकित्सा अधिकारी को फोन लगाकर समस्या बताई और कहा कि यहां लोग बता रहे हैं की डॉक्टर रोहित भदकारिया तो अस्पताल में कभी कभार ही दिखाई देते हैं लगभग गायब ही रहते हैं अस्पताल की स्थिति खराब है कार्यालय की कुर्सियां खाली हैं मुखिया गायब है पानी नहीं है रोटियां जमीन पर है।

जब उपाध्यक्ष ने व्यवस्था सुधारने मूलभूत सुविधाएं देने तथा अस्पताल का प्रभार बदलने की सीएमएचओ डॉ पवन जैन से की तो उन्होंने कहा अस्पताल में पदस्थ अन्य डॉक्टर डॉ बृजेश शर्मा प्रभार लेने को तैयार नहीं है वरना में बदल देता जब मौके पर उपस्थित डॉ बृजेश शर्मा से पूछा तो उन्होंने कहा मैंने मना नहीं किया शासन के आदेश को भला में कैसे मना कर सकता हूं मुझे प्रभार के लिए पूछा ही नहीं।

फिलहाल अपने पिता कमल सिंह पड़रिया पूर्व विधायक की पूर्ण स्मृति में फल वितरित करने पहुंचे जिला उपाध्यक्ष और उनकी टीम अस्पताल की बिगड़ी हुई व्यवस्थाओं को देखकर अस्पताल में भर्ती मरीज को फल वितरित कर जिला पंचायत की बैठक में मुद्दा उठाने की बात कह कर उल्टे पैर वापस लौट आए और शोर शराबा सुन आनन फानन में पानी के टैंकर भी बुलबा लिए गए। 
G-W2F7VGPV5M