SHIVPURI NEWS - ASI की विधवा पत्नि के साथ 10.30 लाख की धोखाधडी, मामला दर्ज

Bhopal Samachar

कोलारस। एएसआई पति के निधन के बाद विधवा पत्नी खाते में राशि जारी हुई। बेटे के दोस्त अब्दुल आतिफ खान को पता चला कि कार खरीदने की बात कहकर उधार रुपए मांगता रहा। ढाई साल पहले 10.50 लाख रु. उधार लेकर नहीं लौटाए। कोलारस थाना पुलिस ने पीड़िता की रिपोर्ट पर अब्दुल के खिलाफ अपराध पंजीबद्ध कर लिया है।

फरियादिया रजनी मिंज (47) पत्नी स्व. शांति प्रकाश मिंज निवासी रेलवे लाइन संत फार्म कोलारस ने पुलिस थाने में धोखाधड़ी का अपराध पंजीबद्ध कराया है। रजनी का कहना है कि पति शांति प्रकाश मिंज पुलिस विभाग में एएसआई के पद पर पदस्थ थे। साल 2020 में निधन हो गया।पति के निधन के पर विभागीय तौर पर एसबीआई शाखा कोलारस में 25 लाख 21 हजार 119 रुपए मिले थे।

कोलारस का अब्दुल आतिफ खान पुत्र अब्दुल हकीम खान निवासी कटरा मोहल्ला कोलारस व मेरा बेटा डेविड मिंज आपस में काफी अच्छे मित्र थे। अब्दुल अतीफा खान ने मेरे बेटे के साथ मेरे घर कई बार आकर बोला कि मेरे पास कोई रोजगार नहीं है। मैं एक कार उठाना चाहता हूं। इसलिए मुझे 10-12 लाख रु. की जरूरत है। आपके रुपए में कुछ दिन बाद वापस कर दूंगा। इस तरह 2-4 दिन तक अब्दुल मेरे घर आता रहा।

बेटे का खास मित्र होने से मैंने उस पर विश्वास कर लिया और 24 जनवरी 2022 को अब्दुल को गाड़ी उठाने 10.50 लाख रुपए चेक से भुगतान कर दिया। बाद में पता चला कि अब्दुल ने अपने बड़े भाई फारुख खान निवासी कोलारस के नाम से गाड़ी उठवाई है।

साल 2023 में अब्दुल खान से रुपए वापस मांगे तो आज कल की कहकर टालता रहा। फिर कहने लगे कि पैसे नहीं दूंगा। 5 जुलाई को शुभम जैन निवासी कोलारस व मेरे बेटे—डेविड मिंज के समक्ष कोर्ट में ले  जाकर एक शपथ पत्र बनवाकर पेश किया कि में 6-6 महीने में 2 लाख - रुपए आपको जमा करता रहूंगा। लिखित सहमति के बाद भी आज तक पैसे नहीं लौटा। पुलिस ने अब्दुल के खिलाफ धोखाधड़ी का अपराध पंजीबद्ध कर लिया है।
G-W2F7VGPV5M