SHIVPURI NEWS - श्मशान में शव साधना से दहशत में लोग, दरबार लगाकर होती है तांत्रिक क्रियाए,पढिए मामला

Bhopal Samachar
काजल सिकरवार
। शिवपुरी जिले के पिछोर अनुविभाग के खनियाधाना कस्बे में स्थित मुक्तिधाम में तांत्रिक क्रियाओं के कारण मुक्तिधाम के पास निवास करने वाले लोग दहशत में है,बताया जा रहा है कि बंगाल से कोई अघोरी खनियाधाना में स्थानीय लोगों के कहने पर आया है और पिछले 20 दिनों से मुक्तिधाम में कोई तांत्रिक अनुष्ठान कर रहा है,और इस अनुष्ठान में स्थानीय लोग भी शामिल होते है।

जानकारी के अनुसार खनियाधाना में केवट मोहल्ला के पास स्थित मुक्तिधाम के चारो और रहवास है,मुक्तिधाम की बाउंडीवाल् से सटे मकान बने है। पास में ही शासकीय कन्या हाई स्कूल और आईटीआई कॉलेज भी है कुल मिलाकर धीरे धीरे नगर के अंतिम छोर पर बने मुक्तिधाम अब बसाहट के बीच आ गया है।

खनियाधाना के मुक्तिधाम में इस तांत्रिक क्रियाओं का खुलासा तब हुआ जब मुक्तिधाम के पास रहने वाले लोगों को आधी रात अजीब अजीब तरह की आवाजे आ रही थी। रात में हसने, तालियां बजाने व तंत्र पढ़ने की आवाजें पिछले कुछ दिनो से स्थानीय लोगों को मिल रही थी। इस आवाज को सुनकर मुक्तिधाम के पास रहने वाले कुछ लोग अपनी छतो पर चढे और आवाज आने की दिशा में ध्यान लगाया तो प्रतीत हुआ कि यह सभी आवाजे मुक्तिधाम से आ रही है।

मुक्तिधाम के एक पडोसी ने रात के अंधेरे को चीरने के लिए टॉर्च का उपयोग कर देखने का प्रयास किया तो कुछ नजर नहीं आया। मुक्तिधाम का पड़ोसी अपने घर से बाहर निकला और वह टॉर्च लेकर शमशान घाट तक गया और उसने जैसे ही शमसान घाट की दीवार को टच किया और श्मशान घाट में टॉर्च से देखना चाहा तो वह अचानक डर गया और घबराते हुए अपने घर पहुंचा, और सुबह होते से ही यह घटना उसने आसपास के लोगों को बताई, कि रात में ऐसा ऐसा हुआ, और वहीं व्यक्ति ने यह महसूस भी किया कि उसी दिन से उसकी बेटी की तबीयत बिगड़नी शुरू हो गई।

जिसके बाद हमारे रिर्पोटर नरेन्द्र जैन को इस घटना की सूचना मिली और सूचना मिलते से ही वह श्मशान घाट की ओर गये और वहाँ उन्होंने देखा और दृश्य के साक्ष्येा को अपने कैमरे में कैद किया। वहां उन्होंने देखा कि श्मशान घाट से अंदर ही एक काल भैरवनाथ की मूर्ति रखकर दरबार बनाया गया है।


मूर्ति पर नींबूओं की माला चढ़ी थी,इसके साथ ही कांच की लाल रंग की चूड़ियां और सुहाग जैसा समान वहां रखा था।, साथ ही वहां पर लाल रंग का कपड़ा और भी कई जादू-टोना की चीजें वहां पर नजर आई। और श्मशान घाट का वह स्थान जहां चिताओं को अग्नि दी जाती हैं वहां पर जादू-टोना की सारी चीजें बिखरी हुई मिली थी मूर्ति के पास में मटरा और एक पेड़ पर एक नारंगी रंग के कपड़े में कुछ बंधा हुआ मिला।

जिसकी वीडियो और फुटेज हमारे रिपोर्टर ने अपने मोबाइल के कैमरे में कैद भी किये जिसके बाद रिपोर्टर नरेन्द्र जैन ने शमशान घाट के आसपास निवास कर रहे लोगों से जाकर पूछा तो उन्होंने बताया कि एक बाबा बंगाल से आया हैं और कुछ स्थानीय लोग भी शामिल हैं आसपास के लोगों ने बताया कि यह क्रिया लगातार पिछले 20 दिनों से चल रही हैं और 40 दिनों तक यह चलती हैं। और इससे आसपास के लोगों के अंदर एक दहशत सी बनी हुई हैं लोगों को डर हैं कि हमारे साथ कोई अनहोनी ना हो जाये। लोगों का अपने घरों से निकलना मुश्किल हो गया हैं,यह बात जैसे जैसे लोगों को पता चल रही है वैसे वैसे नगर में दहशत फैल रही है।

इनका कहना हैं
हमें इस घटना की सूचना अभी तक नहीं मिली हैं और ना ही हमारे पास इसकी शिकायत करने कोई आया हैं,अब हम इस मामले को दिखवाते हैं।
अशोक बाबू खनियाधाना थाना प्रभारी
G-W2F7VGPV5M