SHIVPURI NEWS - लापता कांग्रेस का एजेंट, रात में आया था किसी का फोन, पुलिस 150 घंटे बाद बेसुराग

Bhopal Samachar
पिछोर। खबर शिवपुरी जिले के पिछोर अनुविभाग के भौंती थाना के ग्राम महोवा ढमरोद से हैं जहां बीती 17 तारीख के दिन एक कांग्रेस का एजेंट अचानक अपने घर से वोटिंग करवाकर सारा काम खत्म करके लापता हो गया। परिजनों ने इसकी रिपोर्ट थाना भौती में करवाई, लेकिन आज दिनांक तक युवक का कहीं कुछ पता नहीं चला।

जानकारी के अनुसार निवासी महोबा डामरौन थाना भौती तहसील पिछोर का रहने वाला कृष्णपाल सिंह चौहान उम्र 40 साल 17 तारीख की रात जिस दिन विधानसभा चुनाव की वोटिंग थी वह कांग्रेस का एजेंट था, वह वोटिंग करवाकर, टेबल कुर्सी व पूरा काम निवटवाकर अपने घर चला गया।

घर जाकर उसने अपने बच्चों के साथ खाना खाया और वह घर निकल गया था, जिसके बाद वह घर वापस आया और आकर सो गया। जिसके बाद वह अचानक अपने घर से लापता हो गया। परिजनों ने कृष्णपाल को हर जगह तलाश किया लेकिन उसका कहीं कुछ पता नहीं चल सका। वह 17 नवंबर से आज तक कृष्णपाल का कहीं कुछ पता नहीं चला।

पत्नी का कहना-रात को आया था किसी का फोन
कृष्ण पाल की पत्नी रानी राजा उम्र 35 साल ने बताया कि मेरी शादी को 12 से 13 साल हो गये। और हमारे दो बच्चे हैं जो कि जुड़वा पैदा हुए थे, एक बेटा और बेटी दोनों की उम्र 10 साल हैं। हमारा पूरा परिवार राजी खुशी एक दूसरे के साथ रह रहे थे, लेकिन पता नहीं यह विधानसभा चुनाव में ऐसा क्या हुआ कि मेरे पति कृष्ण पाल अचानक रात के समय घर से गायब हो गये।

हमने इनकी रिपोर्ट 19 नवंबर को थाना भौती में कराई थी, लेकिन आज दिनांक तक इनका कहीं कुछ पता नहीं चल सका हैं। मैं व मेरे बच्चे सहित पूरा परिवार इनकी खोज में लगा हुआ हैं, कहीं से भी सूचना मिले हम इन्हें देखने जाते हैं, लेकिन पुलिस आज दिनांक तक इनका पता नहीं कर सकी हैं। जिसके कारण मेरा पूरा परिवार काफी परेशान हैं।

फसल को लेकर हुई थी लड़ाई,उसी ने गायब करवाया हैं मेरे भतीजे को
चाचा पीतम सिंह चौहान ने बताया कि आज से कुछ महीनों पहले की बात हैं मेरा भतीजा कृष्णपाल ने गांव के रहने वाले गज्जू पुत्र हन्ना कुशवाह निवासी महोबा की 2 से 3 बीघा खेती बटाई से थी। जिसके बाद गज्जू ने बेईमानी दिखाई, उसने पूरी फसल को अपने पास रख लिया। कृष्णपाल को उसका बटाई का हिस्सा नहीं दिया। जिसके बाद काफी लड़ाई भी हुई थी, लेकिन कोई हल नहीं निकला, गज्जू को समझाने कुछ गांव वालों को भी ले जाया गया था, लेकिन उसने किसी की भी नहीं सुनी।

जिसके बाद कृष्णपाल उसकी रिपोर्ट लिखवाने थाना भौती पहुंचे जहां उसकी रिपोर्ट दर्ज करवाई गई, जिसके बाद गज्जू ने कृष्णपाल को उसका बटाई का हिस्सा दे दिया। चाचा पीतम सिंह चौहान ने बताया कि मेरा भतीजा कृष्णपाल कांग्रेस का एजेंट था और पूरी जिम्मेदारी उसके कंधों पर थी। उस जिम्मेदारी को उसने इमानदारी पूर्वक निभाई, लेकिन जब 17 तारीख की रात को वह अपने घर गया।

उसके बच्चों के साथ खाना खाया और वह सो गया, तो पता नहीं रात को उसके बाद किसका फोन आया या जिसने उसे गायब करवा दिया गया। कहीं कुछ पता नहीं, हमारा सक गज्जू पर हैं। उसी ने कृष्णपाल को गायब करवाया हैं। पुलिस की तलाश जारी हैं, जल्द ही सब कुछ पता चल जायेगा। मेरा यही निवेदन हैं भौंती थाना पुलिस से की जल्द से जल्द कृष्णपाल को तलाश किया जाये।
G-W2F7VGPV5M