बिगड़ा मौसम पर सुधर रहे है स्कूल, मोबाइल मॉनिटरिंग का असर- 14 कर्मचारी नही मिले- Shivpuri News

शिवपुरी।
शिक्षा से जीर्णोद्धार योजना के तहत स्कूलों के विधिवत व नियमित संचालन के लिए शुरू की गई मोबाइल मॉनिटरिंग का असर दूसरे ही दिन नजर आने लगा है मंगलवार को जहां 60 से अधिक शिक्षक व अन्य स्टाफ गैरहाजिर मिला था तो वहीं बुधवार को खराब मौसम के बावजूद कंट्रोल रूम द्वारा जिन 48 स्कूलों को फोन लगाए गए उनमें से 37 स्कूल ऐसे थे जहां न केवल विधिवत कक्षाएं संचालित हो रही थी बल्कि सभी शिक्षक व अन्य स्टाफ भी मौजूद मिला।

हालांकि 11 स्कूल ऐसे भी थे जो निर्धारित समय में संचालित तो मिले लेकिन यहां 9 अतिथि शिक्षकों के अलावा तीन नियमित शिक्षक व 1-1 ऑपरेटर व भृत्य गैर हाजिर मिले। इनका वेतन काटने सहित नोटिस जारी कर कार्रवाई की जा रही है। खास बात यह रही कि बुधवार को खुद जिला शिक्षा अधिकारी समर सिंह राठौड़ ने कंट्रोल रूम पर कमान संभाली और मॉडल स्कूल खनियाधाना में वीडियो कॉल किया।

इस दौरान स्कूल तो संचालित मिला लेकिन यहां पदस्थ शिक्षक हरिराम रजक दोपहर 11:25 बजे उपस्थिती पंजी में हस्ताक्षर करते पाए गए, जिन्हें गैरहाजिर मानकर कार्रवाई की जा रही है। डीईओ ने कुछ अन्य विद्यालयों में भी शिक्षकों व छात्रों से वीडियो कॉल पर बात की।

ये मिले गैर हाजिर

बुधवार को प्राथमिक विद्यालय ऐरावन के किसी भी शिक्षक का फोन नहीं लगा, जिन्हें गैर हाजिर मान कर कार्रवाई की जा रही है। इसके अलावा खनियाधाना के मावि कुटावली में अतिथी शिक्षक धर्मेन्द्र शर्मा, करैरा के हाई स्कूल राजगढ़ में अतिथि शिक्षक अरविंद भार्गव, भरत राजपूत, मलखान लोधी, पिछोर के हाई स्कूल बदरवास में अतिथि शिक्षक शंभू दयाल रजक, नरवर के हाई स्कूल पारनेर में अतिथी शिक्षक सोबरन सिंह रावत, नरेंद्र शाक्य, दीपक रावत सहित ऑपरेटर गोविंद कुशवाहा गैर हाजिर मिले, जबकि पोहरी के हाई स्कूल मारौरा खालसा में शिक्षिका गिरजेश राठौर, उत्कृष्ट बदरवास में अतिथि रानू यादव, हाई स्कूल सिंह निवास में शिक्षिका दीपिका शर्मा व उमावि सिरसौद में भृत्य धर्मेन्द्र यादव अनुपस्थित मिले।

इनका कहना है
बुधवार को मौसम खराब होने के बावजूद अधिकांश स्कूल विधिवत संचालित मिले हैं। जहां तक अतिथि शिक्षकों के गैरहाजिर रहने का सवाल है, उनका वेतन तो काट ही रहे हैं साथ ही वे क्रॉस चैकिंग में पुन: गैरहाजिर मिलते हैं तो सेवा समाप्त की जाएगी। अच्छे शिक्षकों को पुरस्कृत किया जाएगा, वहीं लापरवाहों पर कठोर कार्रवाई जारी रहेगी।
समर सिंह राठौड़,डीईओ शिवपुरी