1100 कलश, बैंड बाजे और हाथी-घोड़े के साथ 5Km लंबी होगी मां कंकाली की कलश यात्रा- kolaras News

कोलारस।
कोलारस परगने के रन्नौद नगर परिषद के समीप आने वाले ग्राम सिंघारई में मां कंकाली का अति प्राचीन प्रसिद्ध मंदिर है जहां पर 20 जनवरी से 29 जनवरी तक श्री शतचंडी महायज्ञ एवं विशाल भंडारे का आयोजन किया जा रहा है शतचंडी महा आयोजन के शुभारंभ वाले दिन यानी 20 जनवरी को आयोजित भंडारे में एक लाख लोगों के खाने की व्यवस्था की जा रही है।

श्री शतचंडी महायज्ञ के यज्ञ आचार्य पंडित देवकीनंदन पाराशर हैं यहां पर कलश यात्रा के दौरान 11 हजार से अधिक महिला श्रद्धालु कलश लेकर मंदिर पर पहुंचेगी यह कलश यात्रा 5 किलोमीटर की है जिसमें बाइस सौ भक्तगण मातारानी की ध्वजा 11 सौ भक्तगण गले में माता रानी की चुनरी डालकर कलश यात्रा में भव्यता प्रदान करेंगे कलश यात्रा में लगभग 30 से 40 हजार श्रद्धालुओं आने की संभावना है

इसके अलावा हाथी, 21 घोड़े के साथ यह कलश यात्रा ग्राम खरेह के हनुमान मंदिर रन्नौद रोड से माँ कंकाली मंदिर धाम के लिए प्रस्थान करेगी जो 5 किलोमीटर की यात्रा रहेगी इसमें इस दौरान ढोल नगाड़े, डीजे बैंड बाजे की व्यवस्था भी की गई है कार्यक्रम के माता कंकाली देवी के परम भक्त पं अजयराज शर्मा ने बताया कि यह आयोजन मंगल की प्राप्ति और अमंगल का नाश करने के लिए कराया जा रहा है

मां कंकाली सिंघारई वाली देवी के दरबार में हम एक लंबे समय से कई वर्षों से लगातार आ रहे हैं और उन्हीं की कृपा और प्रेरणा से यह आयोजन आज कराने का सौभाग्य हमें प्राप्त हो रहा है। मंदिर के पुजारी पंडित श्री भगवत स्वरूप ने बताया कि आयोजन कराने वाली कंकाली मैया ही हैं जिनकी कृपा से यह आयोजन होने जा रहा है उन्होंने कहा कि यह आयोजन पूरी तरह निरूशुल्क होकर क्षेत्रीय जनता सहित सभी शुभचिंतकों के उत्थान के लिए हैं कंकाली भक्त मंडल ने कार्यक्रम में पधार कर धर्म लाभ उठाकर माता रानी का आशीर्वाद प्राप्त करने का आग्रह किया है।