शिवपुरी में रहा ग्वालियर का दबदबा,तीनो वर्गो में जीता खिताब: स्टेट लेबल टूर्नामेंट- Shivpuri News

शिवपुरी।
शहर के फिजीकल कॉलेज मैदान में 18 नवम्बर से शुरू हुई चार दिवसीय 66 वीं शालेय हैंडबॉल प्रतियोगिता सोमवार को खिताबी मुकाबलों और पुरस्कार वितरण के साथ संपन्न हो गई। लीग मुकाबलों से शुरू हुई ग्वालियर संभाग की अविजित पारी खिताबी मुकाबलों तक जारी रही। ग्वालियर संभाग की टीम ने बालक 17 व 14 वर्ष वर्ग सहित बालिका 14 वर्ष वर्ग में फाइनल जीतकर खिताब अपने नाम दर्ज कर लिया तो वहीं बालिका 17 वर्ष वर्ग में भी ग्वालियर संभाग दूसरे स्थान पर रहा। इस नजदीकी मुकाबले में इंदौर संभाग विजेता बना।

दोपहर बाद समापन कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसमें विजेता, उपविजेता व तृतीय स्थान पर आने वाली टीमों के खिलाडिय़ों को ट्रॉपी व मेडल प्रदाय कर अतिथियों ने सम्मानित किया और प्रतियोगिता के दौरान उनकी खेल भावना व हुनर की जमकर तारीफ की। कार्यक्रम की मुख्य अतिथि नगरपालिका अध्यक्ष श्रीमती गायत्री शर्मा थींए जबकि अध्यक्षता एसपी राजेश सिंह चंदेल ने की।

विशिष्ट अतिथि के रूप में राज्य मंत्री दर्जा रमेश प्रसाद खटीक, संयुक्त संचालक शिक्षा ग्वालियर संभाग दीपक पाण्डेय, सांसद प्रतिनिधि हेमंत ओझा, मुकेश सिंह चौहान, नगर मंडल अध्यक्ष विपुल जैमिनी, पुरानी शिवपुरी मंडल अध्यक्ष KP परमार, महामंत्री गिर्राज शर्मा आदि मौजूद रहे। कार्यक्रम का संचालन गिरीश मिश्रा मामा, हेमलता चौधरी व बीआरसीसी अंगद सिंह तोमर ने किया। क्रीड़ा अधिकारी महेंद्र तोमर ने प्रतिवेदन का वाचन किया जबकि जिला शिक्षा अधिकारी समर सिंह राठौड़ ने आभार व्यक्त किया।

स्वास्थ्य के लिए खेल जरूरी

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए एसपी राजेश सिंह चंदेल ने कहा कि जिस तरह वर्तमान में स्वच्छ शहर का नारा दिया जाता है उसी तरह स्वस्थ शहर भी होना ही महत्वपूर्ण है और जो खेलों से ही यह संभव है। जेडी दीपक पाण्डेय ने कहा कि जीत.हार खेल का हिस्सा हैए लेकिन खेलों के जरिए विभिन्न मानवीय गुणों का विकास होता है जो एक बेहतर नागरिक का सृजन करता है।

नपाध्यक्ष गायत्री शर्मा ने कहा कि जो टीम जीत नहीं पाई हैं वे निराश ना हों क्योंकि यहां तक पहुंचना भी आसान नहीं है। भविष्य में वे और मेहनत करेंगे और ऊँचे मुकाम पर पहुंचेंगे। इधर दोपहर में कलेक्टर अक्षय सिंह कुमार भी खिलाडिय़ों के बीच पहुंचे और उनका उत्साहवर्धन करते हुए शुभकामनाएं दीं।

रेफरी सहित कमेटी सदस्यों को किया सम्मानित

चार दिवसीय प्रतियोगिता के व्यवस्थित और सफल संचालन के लिए अतिथियों व जेडी पाण्डेय ने पूरी आयोजन कमेटी की प्रशंसा की। इस दौरान विभिन्न संभागों के जनरल मैनेजर सहित मैदान में रेफरशिप करने वाले रेफरी व अन्य अमले को सम्मानित किया गया। प्रतियोगिता के प्रचार-प्रसार के लिए समिति के भगवत शर्मा व नीरज सरैया को स्मृति चिन्ह प्रदान किया गया।

ये रहे फायनल के नतीजे

सोमवार को बालक 14 वर्ष वर्ग का फायनल मुकाबला ग्वालियर व रीवा के बीच खेला गया जिसमें ग्वालियर ने 20-13 से रीवा को पराजित किया जबकि तृतीय स्थान के लिए जनजातीय संभाग व नर्मदापुरम के बीच हार्डलाइन मुकाबला खेला गया जिसमें जनजातीय संभाग ने 10-2 से जीत दर्ज की।

बालिका 14 वर्ष वर्ग में ग्वालियर ने जनजातीय संभाग को 7-5 से पराजित किया जबकि तृतीय स्थान के लिए उज्जैन ने जबलपुर को 4-0 से हराया। इसी प्रकार बालक 17 वर्ष वर्ग में ग्वालियर ने नर्मदापुरम को 12-10 के नजदीकी मुकाबले में हराकर खिताब हासिल किया।

तृतीय स्थान के लिए उज्जैन ने जनजातीय संभाग को 14-7 से पराजित किया। बालिका 17 वर्ष वर्ग में फाइनल मुकाबला इंदौर और ग्वालियर के खेला गया जहां इंदौर ने 8.6 से जीत दर्ज की। तीसरे स्थान पर सागर संभाग रहा जिसने भोपाल को 5-3 से हराया।