बेटियों को पढ़ाई से वंचित करना सबसे बुरा काम है-जाट- Shivpuri News

शिवपुरी।
शासकीय उत्कृष्ट कन्या सीनियर छात्रावास में आयोजित हुआ मप्र स्थापना दिवस का कार्यक्रम कोलारस नि.प्र. एक जमाना था जब बेटियों को पढ़ने के लिए भेजने में माँ पिता को बोझ लगता था। बेटियों को चारदीवारी में कैद कर रखने की संकीर्ण सोच के चलते बच्चियों को शिक्षा से वंचित रखा जाता था।

लेकिन जैसे जैसे समय बीतता गया। भाजपा की सरकारों ने देश और प्रदेश में बेटी शिक्षा को विशेष जोर दिया। पालकों को उनकी पढ़ाई के खर्चे से मुक्त किया। सायकिल दी। स्कूल में ड्रेस, छात्रवृत्ति देना शुरू किया। जिस बेटी को कांग्रेस के शासन काल मे बोझ समझा जाता था

आज उसे लाडली लक्ष्मी बनाया है तो इसका श्रेय भारतीय जनता पार्टी की सरकार को है। हमें बेटियों को खूब पढ़ाना चाहिए। उन्हें काबिल बनाये। सरकार ने छात्रावास खोले हैं। सारी सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं। और अगर इसके बाद भी कोई पालक अपनी बेटियों को पढ़ाई से वंचित रखते हैं तो ये सबसे बड़ा पाप है।

बेटियों को खूब पढ़ाएं। उन्हें आगे बढऩे दें। उक्त बात आज शासकीय कन्या सीनियर छात्रावास में आयोजित मप्र स्थापना दिवस के कार्यक्रम में मुख्य अतिथि सांसद प्रतिनिधि जयपाल जाट ने छात्रावास में रह रहीं बच्चियों के माता पिता को संबोधित करते हुए कही।

इस कार्यक्रम में सांसद प्रतिनिधि जयपाल जाट के साथ विधायक प्रतिनिधि राम सड़ैया,जिला मंत्री गणेश सत्यार्थी, पूर्व पार्षद राजू भार्गव, युवा मोर्चा मंडल उपाध्यक्ष मनोज भार्गव, छात्रावास की अधीक्षिका श्री मति आर्य मैडम, एवं संचालक दिलीप जैन उपस्थित थे। कार्यक्रम का शुभारंभ अतिथियों द्वारा माँ सरस्वती की तस्वीर पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्वलित कर किया गया।

इस अवसर पर छात्रावास की छात्राओं ने सांस्कृतिक कार्यक्रम में एक से बढ़कर एक प्रस्तुतियां दीं। कार्यक्रम में सैंकड़ो की संख्या में पालक और स्थानीय लोग मौजूद थे।