विवाद विहीन जिला बनाने में विधि छात्र महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं- Shivpuri News

शिवपुरी।
श्रीमंत माधवराव सिंधिया स्नातकोत्तर महाविद्यालय शिवपुरी के विवेकानंद सभागार में आज राष्ट्रीय विधिक सेवा दिवस के अवसर पर विधिक जागरूकता कार्यक्रम प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, शिवपुरी के अध्यक्ष श्री दीपक गुप्ता की अध्यक्षता में किया गया।

इस अवसर पर कार्यक्रम के प्रारंभ में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण शिवपुरी द्वारा राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली एवं माननीय राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जबलपुर की समस्त कल्याणकारी योजनाओं की प्रदर्शनी का शुभारंभ प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश द्वारा किया गया।

प्रदर्शनी में नालसा एवं सालसा की योजनाओं के साथ-साथ ‘‘हक हमारा भी तो है अभियान‘‘ एवं ‘‘भारतीय नागरिकों के सशक्तिकरण हेतु विधिक जागरूकता अभियान‘‘ तथा ‘‘समझौता समाधान अंतर्गत निपटारे की प्रक्रिया‘‘ अंतर्गत कार्यरत पैरालीगल वालेंटियर्स एवं विधि के छात्र-छात्राओं द्वारा की गई गतिविधियों एवं समाज की अंतिम पंक्ति में निवासरत व्यक्तियों के मध्य जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा शिविर व डोर-टू-डोर कैम्पेन के माध्यम से पहुंच स्थापित करने के छायाचित्र दर्शाये गये

तत्पश्चात् प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश महोदय श्री दीपक गुप्ता ने उपस्थित छात्र-छात्राओं को कॉलेज एज्यूकेशन के दौरान ही विधिक सहायता की गतिविधियों में जुड़ने की अपील की। जिससे कि प्रत्येक छात्र वकालत के व्यवसाय में आने के पूर्व ही अथवा न्यायाधीश के रूप में चयन होने के पूर्व ही सामाजिक, आर्थिक और सांस्कृतिक परिस्थितियों को समझ सके एवं विधि व्यवसाय के दौरान केवल एम्पायर की भूमिका में कार्य न करें बल्कि पीड़ित व्यक्ति को वास्तव में कैसे न्याय दिलाया जा सकता है उस भूमिका में कार्य करें।

श्री गुप्ता ने अपना अनुभव साझा करते हुए अपील की, कि जैसे मैं भी फाईनल निर्णय देने के पूर्व एक बार संबंधित धारा को आवश्यक रूप से पढ़ता हूँ। उसी प्रकार प्रत्येक छात्र को लगातार अध्ययन से जुड़ा रहना चाहिये लर्निंग ही अर्निंग का एक सशक्त मार्ग होता है। साथ ही कहा कि यदि विधि छात्र विधिक सेवा मिशन से जुड़ता है तो हम एक विवाद विहीन जिला बनाने की ओर एक सार्थक पहल प्रारंभ कर सकते हैं।