लुटेरे विभाग की कार्यप्रणाली से परेशान ग्रामीणों ने दी आंदोलन की धमकी, सौंपा ज्ञापन- Shivpuri News

शिवपुरी। जिले के नरवर तहसील के लगभग एक दर्जन गांव के ग्रामीण अघोषित बिजली कटौती से परेशान हैं। ग्रामीणों का कहना है अघोषित बिजली कटौती से परेशान ग्रामीणों ने इस समस्या से निजात दिलाए जाने की कई शिकायत दर्ज कराई गई थी। बावजूद इसके बिजली विभाग में सप्लाई की व्यवस्था कोई भी सुधार नहीं किया।

बिजली कटौती और अधिकारियों के गैर जिम्मेदाराना रवैये को लेकर ग्राम खिरिया सुनवाई, डूंगरपुर, पनानेर के ग्रामीणों ने नरवर तहसील में पहुंचकर तहसीलदार को ज्ञापन सौंप ग्रामीण अंचल बिजली व्यवस्था में दो दिनों के भीतर सुधार लाने के निर्देश दिए जाएं अगर दो दिवस के भीतर बिजली कंपनी ने बिजली व्यवस्था में सुधार नहीं लाया गया तो कई गांव के ग्रामीण बिजली कंपनी के खिलाफ उग्र आंदोलन करेंगे।

खेमराज शाक्य ने बताया कि अधिकांश गांव में 24 घंटे के बजाए मुश्किल दो घंटे बिजली मिल रही है। ग्रामीणों की शिकायत पर अधिकारी कोई एक्शन नहीं ले रहे हैं। अघोषित बिजली कटौती से परेशानी उपभोक्ताओं ने पहले भी बिजली कंपनी के अधिकारियों को आवेदन दिया था, लेकिन अब तक व्यवस्था में सुधार नहीं हुआ है। मच्छरों के कारण गांव के लोग पूरी रात सो नहीं पाते हैं।

आज दिनांक तक विधुत व्यवस्था में सुधार नहीं लाया गया इसी तरह केरूआए देवरीखुर्द गांव में भी बिजली कटौती हो रही है। इससे ग्रामीणों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। रात के समय लोगों को चिमनी जलाकर काम चलाना पड़ रहा है। गांव के लोगों ने बताया कि बारिश के मौसम में अंधेरा होने के कारण घर के अंदर रहने में भी डर लगता है।

बिजली कंपनी के अधिकारियों से शिकायत करने के बाद भी व्यवस्था नहीं सुधारी जा रही है। इसके अलावा एक दर्जन ग्रामों में बिजली कटौती से गांव के लोग परेशान हैं। उन्होंने बताया कि इसी तरह अन्य गांव में अघोषित रूप से बिजली कटौती की जा रही है। इससे ग्रामीणों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। ग्रामीणों का कहना है कि अगर विधुत व्याबस्था में सुधार नहीं लाया गया तो ग्रामीण एकजुट होकर उग्र आंदोलन करेंगे।