भाजपा में गुटबाजी: सोशल पर राजे पर टिप्पणी करने वाले रामजी व्यास बने सांसद प्रतिनिधि- Shivpuri News

शिवपुरी।
सोशल मीडिया पर पिछले दिनों स्थानीय विधायक और प्रदेश सरकार की मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया के खिलाफ टिप्पणी करने के कारण नगर पालिका उपाध्यक्ष सरोज व्यास व्यास के पति रामजी व्यास पर आपराधिक मामला कोतवाली शिवपुरी में कायम किया गया था। उन्हीं रामजी व्यास को सांसद केपी यादव ने नगर पालिका में अपना सांसद प्रतिनिधि नियुक्त कर दिया है।

नई नगर पालिका परिषद की आज पहली बैठक थी और इस पहली बैठक में सांसद प्रतिनिधि के रूप में रामजी व्यास शामिल हुए। उनके विरूद्ध आपराधिक प्रकरण भाजपा नगर मंडल अध्यक्ष विपुल जैमिनी और पुरानी शिवपुरी मंडल अध्यक्ष केपी परमार ने दर्ज कराया था।

नगर पालिका अध्यक्ष पद के चुनाव में रामजी व्यास अपनी पार्षद पत्नी सरोज व्यास को अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ाना चाहते थे। जबकि स्थानीय विधायक और मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया उनकी उम्मीदवारी के पक्ष में नहीं थीं। इस पर विवाद काफी गहराया और प्रदेश के वरिष्ठ भाजपा नेताओं के हस्तक्षेप के बाद अध्यक्ष पद का उम्मीदवार गायत्री शर्मा को बनाया गया और उपाध्यक्ष पद के लिए भाजपा ने सरोज व्यास की उम्मीदवारी तय की।

लेकिन इसके बाद भी दोनों पक्षों के बीच समझौता नहीं हो सका। दोनों पक्षों के बीच लगातार कड़वाहट बनी रही और सोशल मीडिया पर सिंधिया राजपरिवार खासकर यशोधरा राजे सिंधिया के खिलाफ रामजी व्यास ने टिप्पणी कर दी। जिस पर भाजपा के दो मंडल अध्यक्षों की शिकायत के आधार पर पुलिस ने आपराधिक प्रकरण दर्ज कर लिया।

यशोधरा राजे समर्थकों ने श्री व्यास को पार्टी से निकलवाने के लिए दबाव बनाया। लेकिन उन्हें पार्टी से तो निष्कासित नहीं किया गया बल्कि सांसद केपी यादव ने उन्हें नगर पालिका में अपना सांसद प्रतिनिधि नियुक्त कर दिया है।

श्री यादव के प्रतिनिधि की हैसियत से नगर पालिका में भाजपा जिला उपाध्यक्ष हेमंत ओझा परिषद की बैठक में भाग लेने के लिए पहुंचे। लेकिन जब उन्हें जानकारी मिली की सांसद यादव ने रामजी व्यास को अपना प्रतिनिधि नियुक्त कर दिया तो वे बैठक से चले गए और फिर पूरी कार्रवाई में सांसद प्रतिनिधि की हैसियत से रामजी व्यास बैठक में शामिल हुए।

पार्षद पति और मीडिया को बैठक में प्रवेश की नहीं दी गई अनुमति

मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने पूर्व में ही स्पष्ट कर दिया था कि नगर पालिका परिषद की बैठक में पार्षद पति शामिल नहीं हो पाएंगे। इससे यह तय लग रहा था कि नगर पालिका उपाध्यक्ष सरोज व्यास के पति रामजी व्यास भी बैठक में शामिल नहीं हो पाएंगे।

लेकिन बैठक से एक घंटे पहले सांसद केपी यादव ने रामजी व्यास को नगर पालिका में अपना सांसद प्रतिनिधि नियुक्त कर दिया। जिससे नगर पालिका की राजनीति गरमा गई। कल नगर पालिका अध्यक्ष गायत्री शर्मा ने निर्णय लिया कि मीडिया को भी बैठक में शामिल होने की अनुमति नहीं दी जाएगी। इसका पत्रकारों ने और कुछ पार्षदों ने विरोध भी किया। लेकिन फिर भी मीडिया प्रवेश की अनुमति नहीं दी गई। हालांकि परिषद के कक्ष के बाहर स्क्रीन लगाया गया। जिससे मीडिया परिषद में हो रही गतिविधियां देख सकें।