अधर्म का विनाश और धर्म की पुनर्स्थापना के लिए हुआ था भगवान श्रीकृष्ण का जन्म- Shivpuri News

शिवपुरी।
शहर के कुमारबाग में शिवहरे परिवार के यहां में चल रही श्रीमद् भागवत कथा में चौथे दिन श्रीकृष्ण जन्मोत्सव मनाया गया। श्रीकृष्ण जन्म होते ही मौजूद भक्त खुशी से झूम उठे। भक्तों ने बधाई गीत गाकर भगवान के जन्म की खुशियां मनाईं। 

कथा वाचक पंडित गौरव कृष्ण भार्गव जी ने कहा कि कलयुग में कल्याण व भगवत चरणों को प्राप्त करने का साधन एक भाव हरि नाम है। उन्होंने बताया कि हमें भगवान से भक्ति के अतिरिक्त और कुछ नहीं मांगना चाहिए। इसके अलावा कथा में भगवान श्रीकृष्ण का जन्म कैसे हुआ और जन्म के बारे में श्रीमद्भागवत कथा के माध्यम से विस्तृत वृत्तांत बताया।

कथा सुनने आए भक्तों ने भी श्री कृष्ण जन्म को धूमधाम से मनाया। कृष्ण जन्म होते ही नंद के घर आनंद भयो जय कन्हैया लाल की स्वर से पूरा परिसर गूंज उठा। इस अवसर पर बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं की मौजूदगी रही।