झमाझम बदरा बरसने से बहने लगे हैं जिले के झरने, SHIVPURI लगने लगी हैं स्वर्ग सी

शिवपुरी। पिछले 2 दिनों से बदरा बरसने के कारण शिवपुरी के झरने भी बहने लगे है। आज सुबह से ही पानी बरसना शुरू हुआ तो दिन भर रूक रूक कर बारिश हुई,इस कारण आज मौसम सुहाना हो गया। बीते रविवार को भी बारिश हुई जिससे पर्यटकों स्थलों पर भीड़ बढ़ना शुरू हो गई। जिले के प्रमुख पर्यटन स्थलों के झरनो में उफान मारने की खबर आने लगी है।

 जिले में पिछले तीन दिनों में 36.46 मिमी वर्षा दर्ज हुई है मौसम  विभाग के जारी आंकड़ों के अनुसार जिले में अब तक 332.82 मिमी वर्षा दर्ज की जा चुकी है जबकि विते वर्ष आज दिनांक तक 256.61 वर्षा ही दर्ज की गई थी जबकि शिवपुरी जिले में औसत वर्षा आंकड़ा 816.30 है। बतादें की पिछली रिकार्ड वर्षा 1452.90 दर्ज की गई थी जिसके चलते विते वर्ष जिले में बाढ़ जैसे हालात बन गए थे परन्तु इस बार सधी हुई वर्षा क्रम जारी है।

बहने लगे झरने
शिवपुरी जिले में दर्जनों झरने है जो बारिश के बाद बहना शुरू हो जाते हैं शिवपुरी शहर से लेकर जिले भर के यह झरने लोगों को आकर्षित करते हैं जिन्हें देखने बड़ी तादात में लोग पहुँचते हैं। शिवपुरी शहर के पर्यटक क्षेत्र में स्थित भदैया कुंड का झरना बहना शुरू हो चुका है जो पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित कर रहा है।

शहर के करीब होने के चलते ही यहां काफी संख्या में लोग पहुंचते हैं। शिवपुरी से लगभग 40 किलोमीटर दूर प्रसिद्ध पवा धार्मिक स्थल पर जलप्रपात शुरू हो चुका है पवा जलप्रपात पर 100 फीट ऊंचाई से नीचे पानी गिरता है। जिसे देखने काफी संख्या में पर्यटक पहुंचते हैं।

शिवपुरी जिले भर में ऐसे दर्जनों छोटे.बड़े झरने है जो अब बहना शुरू हो गए है हालांकि जैसे.जैसे वर्षा का आंकड़ा कुल अनुमानित आंकड़े के करीब पहुचेगा वैसे वैसे इन झरनों में और सुंदरता झलकने लगेगी।

शिवपुरी जिले के नरवर तहसील में स्थित मोहनी डैम के गेट समय समय पर खोले जाने लगे हैं इसके साथ ही फिलहाल अटल सागर बांध कर गेटों को अभी तक नहीं खोला गया है हालांकि यहां बिजली का उत्पादन शुरू हो चुका है। जिले में बदरा के बरसने के कारण शिवपुरी के पर्यटक स्थलों पर चार चांद लग गए है साथ में धरती ने भी हरियाली की चादर ओढ ली हैं जिससे शिवपुरी स्वर्ग सी सुंदर दिखने लगी है।

यह है जिले मे वर्षा की स्थिती
शिवपुरी में 439 मि.मी, बैराड़ में 350.50  मि.मी , पोहरी में 361  मि.मी, , नरवर में 404 मि.मी, करैरा में 212  मि.मी,पिछोर में 351.70  मि.मी,कोलारस 505 मि.मी, बदरवास में 343 मिमी, तथा खनियाधाना में 268 मि.मी, वर्षा दर्ज हुई है।