नगरीय निकाय चुनाव: पहले चरण का प्रचार थमा, आखिरी दिन प्रत्याशीयों ने झौंकी ताकत, बरसते पानी में किया जनसपंर्क- Shivpuri News

शिवपुरी। जिले में चारों और सिर्फ और सिर्फ चुनाव सिर चढकर बोल रहा है। पंचायत चुनाव में दो चरणों का मतदान हो गया है। सभी जगहों पर मतगणना भी हो गई है। परंतु अभी अधिकारिक रिजल्ट के लिए इंतजार करना होगा। हार जीत का अंतर तत्काल ही मिल गया है। परंतु अब जिले में नगरीय निकाय के चुनाव की धूम है। आज जिले में प्रथम चरण का चुनाव प्रचार थम गया है। आज आखरी दिन प्रत्याशीयों ने अपनी पूरी ताकत झौंक दी।

जिले में नगरीय निकाय के चुनाव के पहले चरण का मतदान 6 जुलाई को नगर परिषद खनियाधाना, नगर परिषद बदरवास सहित रन्नौद नगर परिषद में होना है। प्रचार प्रसार के आखिरी दिन आज तीनो नगर परिषदों में भाजपा और कांग्रेस के अलावा निर्दलीयों ने पुरी ताकत झोंक दी। कई जगह प्रत्याशियों ने समय के अभाव में बरसते पानी के बीच ढोल नगाड़ों के साथ अपना प्रचार प्रसार किया। जिसके बाद आज शाम 5 बजे के बाद चुनावी प्रचार-प्रसार थम गया है। शाम 5 बजे के बाद प्रत्याशी अब प्रचार प्रसार नहीं कर सकेंगे।

नगर परिषद खनियाधाना के 15 वार्डों के लिए 17 मतदान केंद्रों को बनाया गया है जहां 11364 मतदाता अपना मतदान करेंगे। नगर परिषद बदरवास के 15 वार्डों के मतदान के लिए 16 मतदान केंद्रों को बनाया गया है जहां 15710 मतदाता मतदान करेंगे। नगर परिषद रन्नौद में नगर परिषद के पहली बार चुनाव होने वाले हैं रन्नौद नगर परिषद के 15 वार्डों के लिए 15 मतदान केंद्रों को बनाया गया हैं जहां 10898 मतदाता मतदान करेंगे। तीन नगर परिषद में होने वाले मतदान के लिए कुल 48 मतदान केंद्रों को बनाया गया है जिनमें से 9 मतदान केंद्रों को संवेदनशील घोषित किया गया है।

रन्नोद में कलेक्टर और एसपी ने ली बैठक

रन्नौद नगर परिषद का चुनाव पहली बार हो रहा है इसी के चलते कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह और पुलिस अधीक्षक राजेश सिंह चंदेल नगरीय निकाय रन्नौद का भ्रमण के लिए पहुंचे और जहां उन्होंने प्रत्याशियों के साथ बैठक की। कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह ने सभी अभ्यर्थियों से कहा कि रन्नौद अब नगरीय निकाय बन गया है। यहां 6 जुलाई को प्रथम चरण के तहत मतदान होना है।

निर्वाचन आयोग द्वारा जारी दिशा निर्देशों का पालन सभी अभ्यर्थीयों को करना होगा। सभी अभ्यर्थियों के एजेंट समय पर पहुंचे। आयोग के निर्देशानुसार एजेंट को मोबाइल ले जाना प्रतिबंधित रहेगा। कलेक्टर ने जानकारी देते हुए बताया कि किसी मतदाता का नाम मतदाता सूची में होना चाहिए। यदि किसी मतदाता के पास वोटर आईडी नहीं है तो आयोग द्वारा बताए गए विभिन्न पहचान पत्रों में से कोई एक पहचान पत्र साथ में ला सकते हैं। उन्होंने बताया कि अभी अभ्यर्थियों को लेखा-जोखा की जानकारी भी देना है। सभी अभ्यर्थी समय पर व्यय की जानकारी प्रस्तुत करें।

बैठक में पुलिस अधीक्षक राजेश सिंह चंदेल ने सुरक्षा व्यवस्था के संबंध में कहा कि मतदान केंद्रों पर निगरानी के लिए पुलिस बल तैनात रहेगा। सभी आयोग के निर्देशों का पालन करें और शांतिपूर्ण एवं निष्पक्ष मतदान संपन्न कराने में समन्वय से काम करें। उन्होंने कहा कि अभी सोशल मीडिया का उपयोग भी प्रचार प्रसार के लिए किया जा रहा है परंतु सोशल मीडिया पर कोई भी भड़काऊ पोस्ट ना डालें।

किसी अन्य अभ्यर्थी के बारे में गलत भाषा का उपयोग ना करें। किसी की धार्मिक आस्था को ठेस ना पहुंचाएं। निर्वाचन लोकतंत्र का महापर्व है। शांतिपूर्ण निर्वाचन संपन्न हो इसमें सभी अपनी भूमिका निभाएं। किसी के द्वारा दिशानिर्देशों का उल्लंघन किया जाएगा और शांति व्यवस्था भंग करने का प्रयास किया जाएगा तो उसके विरुद्ध कार्यवाही भी की जाएगी।