स्मैकियों का आतंक: मंदिर पर स्मैक पीने से मना किया तो सिर फाड़ दिया, रेफर- Shivpuri News

शिवपुरी। खबर शिवपुरी के देहात थाना अंतर्गत आने वाले लुधावली से से आ रही है कि मंदिर पर स्मैक पीने से मना किया तो स्मैकियों ने एक मना करने वाले हमला कर दिया,जिससे उसका सिर फट गया,उसकी गंभीर स्थिति को देखते हुए ग्वालियर रेफर कर दिया। पुलिस ने इस मामले में मामला दर्ज कर जांच में ले लिया है।

जानकारी के अनुसार चंद्रशेखर राठौर उम्र 51 वर्ष अपनी पत्नी के साथ घर के बाहर बैठे थे,तभी वह घर के बाहर घूमने निकले तो उन्होंने देखा कि पास के हनुमान मंदिर पर सुरेन्द्र गोस्वामी और चंदू आदिवासी स्मैक का नशा कर रहे थे। चंद्रशेखर राठौर ने कहा कि तुम लोग यहां बैठकर स्मैक नहीं पिया करो यह भगवान का मंदिर हैं और भक्त और महिलाओ-बच्चो का यहां आना होता है।

यह सुन दोनो क्रोध में आकर चंद्रशेखर को गालियां देने लगे और बोलने लगे तू कौन होता हैं हमें यहां नशा करने से रोकने वाला,चंद्रशेखर ने इन दोनो की बातो का विरोध किया तो दोनो स्मैकचियों ने गुस्से में आकर डंडे और लोहे की रॉड से हमला कर दिया और लोहे की रॉड सिर में मार दी,जिससे चंद्रशेखर का सिर फट गया और वह गंभीर रूप से घायल हो गए।

इस घटना में चंदु आदिवासी की बहन जमुना आई बोली इस राठोर को यह मोहल्ले में बहुत नेतागिरी करता है इस बात को सुन इन दोनो ने चंद्रशेखर के हाथ में डंडे मारना शुरू कर दी जिससे चंद्रशेखर का हाथ भी टूट गया,इसके बाद सभी आरोपी जान से मारने की धमकी देकर भाग गए। वही घायल चंद्रशेखर के परिजन उसे अस्पताल ले गए जहां उसकी गंभीर हालत देखकर उसे ग्वालियर रैफर कर दिया।

बताया जा रहा है कि हनुमान मंदिर पर स्मैकियों का जमावड़ा लगा रहता है और स्मैक बेचने का काम भी वही से किया जाता है। चंदू आदिवासी और उसकी फैमिली भी स्मैक बेचने का काम करती है। अगर लोगो उनसे स्मैक बेचने की माना करते है। तो वह उन पर हरिजन एक्ट लगाने की धमकी देते है। जिससे लोग डर की वजह से कुछ भी नहीं बोलते है।