Shivpuri News- 150 बीघा वन भूमि पर हो रही है खेती, विभाग का संरक्षण: कार्रवाई के नाम पर विभाग जीरो

शिवपुरी। शिवपुरी जिले की पिछोर तहसील के अंतर्गत आने वाले ग्राम वीरा के पास स्थित वन भूमि पर लगभग 150 बीघा शासकीय जमीन पर अवैध रूप से कब्जा कर भूमि को जोत कर फसल की जा रही हैं। जिसकी जानकारी स्थानीय वन अमले को होने के बाद भी शासकीय भूमि पर खेती करने वालों के खिलाफ आज तक कोई कार्यवाही नहीं की जा रही हैं।

इससे साफ जाहिर है कि कहीं न कहीं वन अमले की भी खुले तौर पर मिली भगत दिखाई दे रही हैं। एक तरफ सरकार प्रदेश सरकार वृक्षारोपण कराकर पर्यावरण को संतुलित बनाने में लगे हुए हैं, लेकिन वन अमला अपने वृक्षों और नर्सरी की जमीन पर खेती करने में मशगूल नजर आ रहा है।

स्थानीय ग्रामीणों ने एक शिकायती आवेदन के माध्यम से शिकायत दर्ज कराई है कि वन भूमि पर लगभग 150 बीघा पर भूमि मोती तलैया क्षेत्र , अचार वाला डांढा वाला क्षेत्र एवं बेरघाट वाला क्षेत्र पर अवैध रूप से ग्राम के दबंग एवं राजनैतिक प्रभाव वाले व्यक्तियों द्वारा कब्जा कर वन भूमि को जोत कर फसल की जा रही हैं।

जब ग्राम वासियों द्वारा कब्जा धारियों से कब्जा हटाने हेतु कहाँ किया तो उक्त कब्जाधारी गाली - गलौज कर लडाई - झगडा कर अभद्र व्यवहार कर रहे है एवं झूठे केसों में फसाने की धमकी दे रहे हैं। यह कि , उक्त कब्जाधारियों के संबंध में हम प्रार्थी गणों द्वारा संबंधित वीट गार्ड से भी कब्जा हटाए जाने हेतु निवेदन कर चुके है लेकिन उनके द्वारा कोई कार्यवाही नहीं की जा रही है और कब्जाधारियों को संरक्षण दिया जा रहा है।

कब्जाधारियों द्वारा बोला जा रहा है कि बीट प्रभारियों और कर्मचारियों को रुपया देते है वन विभाग के कर्मचारी हमारा कुछ नहीं कर सकते तुमको जहाँ शिकायत करना हो वहाँ कर लो हम तो ऐसे ही कब्जा करेंगे और कब्जा नहीं छोड़ेंगे। उक्त वन भूमि को खाली करवाया जाकर वृक्षारोपण कर प्लांटेशन लगाने की मांग स्थानीय ग्रामीणों ने की हैं। जबकि वन विभाग को शासकीय वन भूमि पर स्वत: ही वृक्षा रोपण करना चाहिए लेकिन नहीं उल्टा उस पर खेती कराने में लगे हैं।