पत्रकार भी पत्नी का पल्लू पकड़ कर निकाय का चुनाव लड़ने की तैयारी में, अधिकांश लड़ेंगे​ निर्दलीय- Shivpuri News

शिवपुरी। नगर पालिका राजनीति का आकर्षण पत्रकारों को भी मोहने लगा है। आगामी नगर पालिका चुनाव में अभी तक आधा दर्जन पत्रकार चुनाव लडऩे का ऐलान कर चुके हैं। जिनमें से कुछ पत्रकार भाजपा तो कुछ कांग्रेस टिकट के प्रयास में हैं। जबकि प्रेस फोटोग्राफर ब्रज दुबे अपनी पत्नी श्रीमती मीरा दुबे को निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में वार्ड क्रमांक 3 से चुनाव लड़ाने की घोषणा कर चुके हैं।

उन्होंने साफगोई से कहा कि भाजपा उन्हें टिकट देगी नहीं और कांग्रेस का टिकट उन्हें चाहिए नहीं। इसलिए वह अपनी पत्नी को निर्दलीय चुनाव लड़ाने जा रहे हैं। हालांकि बड़ी स्पष्टता से वह यह भी कहते हैं कि जीतने के बाद उनकी पत्नी अध्यक्ष पद के भाजपा प्रत्याशी को समर्थन देगी।

भाजपा से पार्षद टिकट की महत्वकांक्षा पत्रकार विजय बिंदास पाले हुए हैं।

वह वार्ड क्रमांक 20 से स्वयं चुनाव लडऩे का मन बना चुके हैं। यह वार्ड सामान्य वर्ग के लिए आरक्षित है। इस वार्ड से पिछले चुनाव में पूर्व पार्षद गब्बर सिंह परिहार की पत्नी रेखा परिहार भाजपा उम्मीदवार के रूप में चुनाव जीती थीं। उस चुनाव में उन्होंने विजय शर्मा विंदास को भी पराजित किया था। इस चुनाव में रेखा परिहार स्वयं भाजपा टिकट की दावेदार हैं। इस वार्ड में भाजपा टिकट के लिए विजय शर्मा विंदास और रेखा परिहार के बीच संघर्ष देखा जा रहा है।

पत्रकार अशोक अग्रवाल अपनी पत्नी वंदना अग्रवाल को वार्ड क्रमांक 31 से चुनाव लड़ाने की सोच रहे थे। श्री अग्रवाल भी भाजपा टिकट के तलबगार हैं। लेकिन जब इस वार्ड से महिला पत्रकार पूनम पुरोहित ने चुनाव लडऩे की घोषणा की तो वह धर्म संकट में पड़ गए। सुश्री पुरोहित को संजय बैचेन एण्ड कम्पनी भी समर्थन कर रही है। पूनम पुरोहित गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा की अनुयायी हैं और वह भाजपा टिकट से चुनाव लड़ना चाहती हैं।

पत्रकार अशोक अग्रवाल ने अब अपनी पत्नी वंदना अग्रवाल को वार्ड क्रमांक 34 से चुनाव लड़ाना तय किया है। उन्होंने प्रचार-प्रसार भी शुरू कर दिया है और अपनी उपलब्धियों का सोशल मीडिया पर वीडियो के माध्यम से बखान भी कर रहे हैं। हालांकि वह भाजपा टिकट के अभिलाषी हैं। लेकिन टिकट न मिलने पर वह अपनी पत्नी को निर्दलीय रूप से चुनाव मैदान में उतारेंगे अथवा नहीं, यह अभी स्पष्ट नहीं हुआ है और उन्होंने अपने पत्ते भी अभी नहीं खोले हैं।

पत्रकार राजू शर्मा वार्ड क्रमांक 27 से अपनी पत्नी पिंकी शर्मा को चुनाव लड़ाना चाहते हैं। उन्होंने इसके लिए भाजपा टिकट हेतु आवेदन भी किया है। इस वार्ड से उनके अलावा पिछले चुनाव में जीतीं अनीता भार्गव पत्नी अजय भार्गव भी टिकट की दावेदारी हैं। भाजपा नेता धैर्यवर्धन शर्मा के छोटे भाई विवेक वर्धन की पत्नी भी इसी वार्ड से टिकट की दावेदार हैं। पत्रकार नेपाल बघेल वार्ड क्रमांक 38 से चुनाव मैदान में पार्षद पद हेतु उतर रहे हैं। उनकी इच्छा भी भाजपा टिकट से चुनाव लड़ने की है। लेकिन सूत्र बताते हैं कि टिकट नहीं भी मिला तो वह निर्दलीय रूप से चुनाव मैदान में उतरेंगे।

पार्षद बनने पर अध्यक्ष पद हेतु करेंगे भाजपा का समर्थन : ब्रज दुबे

अपनी पत्नी को वार्ड क्रमांक 3 से निर्दलीय चुनाव लड़ा रहे पत्रकार ब्रज दुबे ने बताया कि उनकी पत्नी पार्षद बनने के बाद अध्यक्ष पद हेतु भाजपा प्रत्याशी को समर्थन करेंगी। श्री दुबे ने भाजपा के प्रति अपनी आस्था को स्पष्ट रूप से जाहिर किया और माना कि जीतने के लिए भाजपा से अच्छी कोई पार्टी नहीं है। इस पार्टी का टिकट मिलने पर उम्मीदवार अपने आप को सेफ समझता है।

वह भी भाजपा टिकट चाहते हैं। लेकिन उन्हें टिकट मिलेगा नहीं। क्योंकि भाजपा टिकट के लिए कार्यकर्ताओं की भीड़ है। ऐसे में हम जैसे गैर कार्यकर्ता को कैसे टिकट मिलेगा। लेकिन वार्ड की समस्या के लिए वह अपनी पत्नी को चुनाव लड़ा रहे हैं। उन्होंने वार्ड में व्याप्त समस्या के लिए पिछले दो कार्यकाल में पार्षद रहे व्यक्तियों को जिम्मेदार ठहराया।