CM राइज स्कूल: परीक्षा में मेरिट के आधार पर किया जाए पदांकन,अभ्यर्थी खुद को ठगा महसूस कर रहे

शिवपुरी। शासकीय अध्यापक संगठन ने मुख्यमंत्री शिक्षा मंत्री एवं आयुक्त लोक शिक्षण को पत्र लिखकर मांग की है कि सीएम राय स्कूलों में उप प्राचार्य व शिक्षकों की पदस्थापना करते समय चयनित अभ्यर्थियों के साथ पदांकन में अनियमितताएं की जा रही है। इसमें मेरिट में कम अंक हासिल करने वाले अभ्यर्थियों की पदस्थापना जारी कर दी गई है।

 इससे मेरिट लिस्ट में अंक लाने वाले अभ्यर्थी खुद को ठगा महसूस कर रहे हैं। इस संबंध में शासकीय अध्यापक संगठन के प्रांत अध्यक्ष राकेश दुबे सहित जिला अध्यक्ष पवन अवस्थी ने आपत्ति जताई है।

प्रदेश शासकीय अध्यापक संघ के प्रदेशाध्यक्ष राकेश दुबे ने मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में उल्लेख किया है प्रदेश के प्रथम उच्च माध्यमिक शिक्षक मनीषा दीक्षित ने सीएम राइज स्कूल चयन परीक्षा में बायो संकाय में प्रदेश में सर्वाधिक मेरिट में पहला स्थान बनाया था और पदांकन के लिए शासकीय माडल स्कूल कटनी मरा था, लेकिन उसका प्लान कर कटनी से 70 किमी दूर शासकीय उमावि कारीतलाई दिया गया अब उनको जबरन कार्यमुक्त किया जा रहा है।

शासकीय अध्यापक संघ के जिलाध्यक्ष पवन अवस्थी व अरविंद सरैया ने मंत्री व प्रमुख सचिव से मांग की है कि चयन परीक्षा में अंको की मेरिट के आधार पर ही प्रथम काउंसलिंग में चयनित विद्यालय में पदांकित किया जाए अथवा पूर्व पदांकित संस्था में ही पदस्थ रहने दिया जाए। संगठन का मानना है कि अगर शिक्षक को दवाब बस स्थान परिवर्तित कर किसी अन्य संस्था में पदस्थ किया जाता है तो यह है ना तो शिक्षक के हित में होगा और ना ही विद्यालय के।