Badarwas News- पूर्व सरपंच ने वीरेंद्र रघुवंशी की टांग तोड़ दी, दोनों पक्षों में खूनी संघर्ष

बदरवास। जिलेे के बदरवास क्षेत्र में पहले चरण के चुनाव तो शांतिपूर्ण तरीके से हो गए। परंतु चुनाव के तुरंत बाद ही रिजल्ट घोषित होने के चलते जिले में लगातार बिवाद के समाचार सामने आने लगे है। ऐसा ही एक मामला बदरवास जनपद के गंदोरा गांव से सामने आया है। यहां सरपंची के चुनाव में वोट न डालने पर एक पक्ष ने दूसरे पक्ष पर हमला कर दिया। हमले में दिव्यांग वीरेंद्र रघुवंशी बुरी तरह से घायल हो गए। जिन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने इस मामले में सभी आरोपीयों के खिलाफ बलवा सहित अन्य धाराओं में मामला दर्ज कर विवेचना में ले लिया है।

अस्पताल में भर्ती वीरेन्द्र रघुवंशी ने बताया कि बीती रात गिंदोरा गांव में सरपंच पद हारने वाले पूर्व सरपंच युधिष्ठिर रघुवंशी सहित अन्य 6 लोगों ने वोट न डालने से खफा होकर उसके घर के सामने रह रहे रामबीर सेन सहित उसके परिवार वालों को जमकर पीटा, रामवीर सेन अपनी और परिवार की जान बचाने के लिए मदद मांगने हमारे घर आए। युधिष्ठिर रघुवंशी भी अपने अन्य साथियों के साथ घर पर लाठी-डंडों को लेकर पहुंच गए और गाली गलौज करने लगे।

वीरेंद्र रघुवंशी ने बताया कि ग्राम गिंदोरा में सरपंच पद पर जीती ओमवती शैतान सिंह का समर्थन उसने और उसके परिवार ने दिया था। इसी बात से नाराज होकर युधिष्ठिर रघुवंशी ने मुझे व मेरे भतीजे प्रवेश रघुवंशी के साथ गाली गलौज करने लगे। जब युधिष्ठिर और उसके साथियों से गाली ना देने को कहा तो उसने गुस्से में आकर मुझे और मेरे भतीजे पर भी लाठी-डंडों से हमला बोल दिया जिसमें वह बुरी तरीके से घायल हुआ है।

इंदार थाना प्रभारी केएन शर्मा का कहना है विते रात गिंदोरा में दो पक्षों में विवाद हुआ है दोनों पक्षों की ओर से शिकायत आई है। झगड़े में वीरेंद्र रघुवंशी गंभीर रूप से घायल हुए हैं इस मामले में पुलिस ने आरोपी युधिष्ठर रघुवंशी,भास्कर रघुवंशी,राहुल रघुंवशी,अमित रघुवंशी,राकेश रघुवंशी,लल्लू रघुवंशी,अशोक रघुवंशी के खिलाफ धारा 452,324,323,294,147,148,149,506 वी के तहत मामला दर्ज कर विवेचना में ले लिया है।