नवविवाहिता का आरोप: दहेज में बुलेरो नहीं दी तो करंट लगाते थे, भाई लेने आया तो उस पर कुल्हाड़ी से हमला बोल दिया - Shivpuri News

शिवपुरी। खबर जिले के देहात थाना क्षेत्र के बडौदी गांव से आ रही है। जहां एक महिला ने अपने ससुरालीजनों पर दहेज प्रताड़ना और भाई पर कुल्हाड़ी से हमला करने का आरोप लगाया है। इस मामले की शिकायत पीडिता ने पुलिस थाने मेें की। जहां पुलिस ने घायल भाई को उपचार के लिए जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया है। पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।

जानकारी के अनुसार ज्योति धाकड़ 19 वर्ष की शादी शिवपुरीे के बड़ौदी इलाके में रहने वाले जसवंत धाकड़ के साथ 10 माह पहले हुई थी। शादी में ज्योति के माता—पिता ने 10 लाख रूपए व अन्य सामान दहेज में दिया था। शादी के कुछ समय तक तो सबकुछ ठीक—ठाक चला लेकिन उसके बाद पति व ससुरालीजन उसे दहेज में बोलेरो लाने के लिए प्रताड़ित करने लगे। जब ज्योति ने मना कर दिया तो उसकी करंट लगाकर, जलाकर मारपीट कर प्रताड़ित करने लगे।

कुछ दिनों तक तो ज्योति ने यह बात अपने मायके वालों को नहीं बताई लेकिन जब बात हद से बाहर होने लगी तो उसने जानकारी अपने माता—पिता को दी, लेकिन इस सूचना की जानकारी ज्योति के ससुराल वालों को लग गई तो उसका मोबाइल फोड़ दिया। ज्योति का फोन आने पर उसका भाई आकाश धाकड़ 18 वर्ष लेने पहुंचा तो उस पर कुल्हाड़ी से हमला कर दिया। जैसे—तैसे वह अपनी जान बचाकर भागा और मामले की जानकारी अपने पिता दाताराम, मां वरमाला व मौसी उषा को दी। जिस पर ये तीनों ज्योति को लेने शिवपुरी आ गए।

जब यह तीनों बड़ौदी गए तो ज्योति के ससुर, सास, ननद, देवर उम्मेद, शुक्रवती, जसवंत, भूपेंद्र, भारती, गिरजा, मनीषा, पप्पू, रजनी ने कुल्हाड़ी से हमला बोेल दिया। जैसे—तैसे ज्योति को वह अपने साथ ले आए और मामले की जानकारी से पुलिस को अवगत कराया व इलाज कराने जिला अस्पताल पहुंचे।

ज्योति बोली, पति करता है नापसंद, ससुरालियों ने छीन लिए जेवर

अस्पताल में इलाज करा रही ज्योति ने बताया कि जब उसके रिश्ते की बात चली तो उसे सभी ने पसंद किया, लेकिन शादी होने के बाद पति ने कहा कि वह उसे पसंद नहीं करता है और सास, ससुर व ननद का भी रवैया बदल गया और आए दिन गाली—गलौंज करने लगे एवं दहेज में बोलेरो की मांग करने लगे। ज्योति ने बताया कि उससे ससुरालीजन उसे खाना नहीं देते थे, उसे भूखा रहना पड़ता था। पति को भी मैंने कई बार कहा लेकिन उन्होंने मेरी एक नहीं सुनी और उल्टा मेरी मारपीट करते थे साथ ही ससुरालीजन भी मारपीट करते थे।