आरक्षण का खिलाफ पुरूषोत्मकांत शर्मा ने कहा: राजनैतिक दल सामान्य वर्ग के हकों को कुचलने का कुचक्र रच रहे हैं- Shivpuri News

शिवपुरी। राजनैतिक दल सामान्य वर्ग के अधिकारों को कुचलने का कुचक्र रच रहे हैं और सिर्फ आरक्षित वर्गों को साधने में लगे हैं, सामान्य वर्ग को न तो विधानसभा, न ही लोकसभा और पंचायत चुनावों में सीटें आरक्षित की जाती हैं। जबकि सामान्य वर्ग की सीटों को अनारक्षित घोषित कर दिया जाता है जिससे किसी भी जाति का प्रत्याशी इन सीटों से चुनाव लड़ता है और सामान्य वर्ग के हक व अधिकारों से लगातार कुठाराघात किया जा रहा है। सवर्ण समाज के लोग इस अन्याय को बर्दाश्त नहीं करेंगे और आने वाले चुनावों में सरकार के इस रवैये का हर स्तर पर विरोध किया जाएगा। यह कहना है अखिल भारतीय ब्राह्यण महासभा सनातन शिवपुरी के जिलाध्यक्ष पुरूषोत्मकांत शर्मा का।

उन्होंने कहा कि वर्तमान में सरकार के रवैये से जिस तरह आरक्षण की आग पूरे प्रदेश में लगी हुई है वह गलत है इससे समाजों के बीच आपसी वैमन्वयता और बैर भाव उत्पन्न हो रहा है।
श्री शर्मा ने कहा कि सामान्य जाति में सर्वाधिक संख्या में प्रतिनिधित्व करने वाली ब्राह्यण और क्षत्रिय समाज की उपेक्षा पार्टियों द्वारा की जा रही है। पंचायत चुनावों में ओबीसी आरक्षण का शिगूफा छोड़कर सरकार ने नया बबाल खड़ा कर दिया है जिसकी कोई आवश्यकता नहीं थी जैसे चुनाव चल रहे थे वैसे चलने देना था लेकिन सरकार ने इस तरह आरक्षण की आग सुलगाकर समाजों में खाई पैदा कर दी है।

शर्मा जी ने आक्रोशित अंदाज में कहा कि यदि सरकार आंदोलन और जातिगत आधार पर ही आरक्षण देती रहेगी तो इससे सामान्य वर्ग खासकर ब्राह्यण और क्षत्रिय समाज के हकों को मार रहे हैं। यदि ऐसा ही चलता रहा तो सामान्य वर्ग ब्राह्यण और क्षत्रिय सड़कों पर उतरकर आंदोलन करेंगे, उन्होंने मांग की कि किरार क्षत्रिय, यादव क्षत्रिय, रावत, जाट, गुर्जर समाज को सामान्य वर्ग में शामिल किया जाए जिससे जातिगत राजनीति समाप्त हो और देश तरक्की कर सके। उन्होंने मांग की कि सरकार को अब आर्थिक आधार पर आरक्षण दिया जाए जिससे गरीबों को उसका हक मिल सके चाहे वो किसी भी जाति का हो।