गधाई काण्ड में ब्रेन मैपिंग टेस्ट हो, निर्दोष फसे नहीं और जालसाज बचे नहीं: धैर्यवर्धन- Shivpuri News

शिवपुरी। भाजपा के पूर्व प्रदेश प्रवक्ता धैर्यवर्धन ने गधाई के घटनाक्रम पर चिंता व्यक्त करते हुए ब्रेन मैपिंग टेस्ट की बात कहीं है। धैर्यवर्धन ने कहा कि जात पात की घिनोनी राजनीति करने वाले,कानून को सदैव ठेंगा दिखाने वाले या कानून को हाथ मे लेने वाले मौकापरस्त फिर सक्रिय हो गए है। शिवपुरी जिले की घटना से मध्य प्रदेश को षड्यंत्र का अखाडा नहीं बनाया जाने देना चाहिए।

करेरा क्षेत्र के रामनगर गधाई की घटना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है,एक छोटे बच्चे की मृत्यु कष्ट देने वाली है वहीें ऑन ड्यूटी दोनों पुलिस निरीक्षकों पर हमला भी निंदनीय कृत्य है। इन्स्पेक्टर राघवेंद्र यादव के सर पर जो चोट आई वह भी अपराधियो के दुस्साहस को बयान कर रहा है।, स्वार्थ की रोटियां सेंकने में लगे अवसरवादी यहां भी मौका चूक नही रहे।

भाजपा के वरिष्ठ नेता धैर्यवर्धन ने कहा कि इस घटना को अंजाम देने वाले कानून को अपने हाथ मे लेने वाले माहौल खराब करने वाले लोगो पर कड़ी कार्यवाही होना ही चाहिए। एक नाली का विवाद इतना बड़ा करने वाले जिसमे एक 10 माह के छोटे बच्चे की जान चली जाए यह झकझोर देने वाली घटना है। बच्चे की जान जिसने भी ली है वह् अक्षम्य अपराध है। अभी गाँव वाले लोग तमाम मिश्रित राय दे रहे है। घटना का बड़ा रूप संदेहास्पद भी प्रतीत हो रहा है।

इस मामले में बेवजह की घटिया राजनीति न करे,जो भी अपनी राजनीति की स्वार्थ प्रेरित रोटियां सेंकने का काम करे उसे भी दंड मिले। समाज के हर वर्ग को भविष्य में ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति न हो इसके लिए वास्तविक दोषियों को दंड देने की मांग करना चाहिए,ताकि शांत फिजा में विष घोलने वालो के मंसूबे कामयाब न हो। किसी परिवार के नौनिहाल का यूं चला जाना हृदय को विदीर्ण कर देने वाली असहनीय घटना है।

भाजपा के प्रदेश कार्यकारिणी मे सदस्य रहे धैर्यवर्धन ने पुलिस अधीक्षक से मांग कर कहा है कि शिवपुरी जिले की इस घटना की निष्पक्ष जांच एक नजीर् बनना चाहिए ताकि अपराधी बेनकाब हों और कड़ी से कड़ी सजा मिले। उन्होंने कहा कि अपराधी और जालसाज बचना नहीं चाहिए और निर्दोष फसना नहीं चाहिए। यदि पुलिस ने जान बुझकर बच्चे पर हमला किया है तो पुलिस के लोगों को बर्खास्त करना चाहिए लेकिन यदि इस घटना मे बच्चे की मौत की कोई शाजिस है तो वे सब लोग कड़ी सजा के हक़्दार् होना चाहिए।