बडी खबर: शिव कॉलोनी में 5 वर्षीय शिवि की डेंगू से मौत- Shivpuri news

शिवपुरी। इन दिनों शिवपुरी जिला पूरी तरह से डेंगू की चपेट में है। जिले में भले ही कागजी आंकडो में डेंगू के मामलो में कोई विशेष बढोत्तरी नहीं है। परंतु जिले के सभी प्रायवेट हॉस्पीटल डेंगू से भरे पडे है। जितने मरीज यहां प्रायवेट अस्पतालों में भर्ती है उस संख्या से लगभग 10 गुना मरीज ग्वालियर के प्रायवेट अस्पतालों में उपचार करा रहे है। परंतु शासन के रजिस्टर में डेंगू के मरीजों में कोई खास बडौत्तरी नहीं हो रही है।

ऐसा ही एक मामला शहर के शिव कॉलोनी निवासी शिवि थापक उम्र 5 साल को बीते कुछ दिनों से बुखार था। जिसके चलते शिवि की ग्वालियर के प्रायवेट अस्पताल में जांच कराई जहां उसे डेंगू की पुष्ठि हुई। डेंगू से पुष्ठि होने के बाद परिजन उसका इलाज कराते रहे। परंतु मासूम की प्लैट्सलेट लगातार गिरती रही।

जिसके बाद आज उक्त मासूम ने ग्वालियर में ही दम तोड दिया। मासूम की मौत के बाद शहर में शोक का माहौल निर्मित हो गया। इसके साथ ही यह तस्वीर जो दिखा रहे है यह उसी नरक पालिका की है जो शहर के व्यापारीयों से तो गंदगी होने जुर्माना कर रही है। वही इस तस्वीर के बाद क्या नपा पर जुर्माना नहीं होना चाहिए।

यह तस्वीर शिवि के घर के बाहर की है। जहां सिंध परियोजना लीक हो जाने से यह प्लॉट तालाब में बदल गया है। इसके साथ ही इस क्षेत्र पूरे क्षेत्र में पानी भरा हुआ है। अब साफ पानी में डेंगू के मच्छर पनपना तय है। इसे लेकर स्थानीय लोग 181 सहित अन्य माध्यमों से इस मामले की शिकायत कर चुके है। परंतु उसके बाद भी इन गंदगी पर निजात नहीं मिल पा रही है। जिसके चलते नगर पालिका प्रशासन पर भी अंगूली उठना तय है।  

कोलारस नगर पंचायत की पूर्व अध्यक्ष भी डेंगू की चपेट में
जिले में डेंगू का प्रकोप जिले से निकलकर बाहर के क्षेत्रो में भी पैस पसार रहा है। पोहरी क्षेत्र के छर्च गांव में डेंगू का डंक ग्रामीणों को बहुत परेशान कर रहा है। इसी दौरान शहर के तारकेश्वरी कॉलोनी निवासी रविन्द्र शिवहरे की पत्नि निशा शिवहरे भी डेंगू की चपेट में आ गई है। जिन्हे उपचार के लिए पहले तो शिवपुरी के एक प्रायवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया। उसके बाद इन्हें अब ग्वालियर के ग्लोबल हॉस्पीट में भर्ती कराया गया है।

भोपाल समाचार पहले भी कर चुका है सचेत,फिर भी नहीं चेता प्रशासन
शिवपुरी में डेंगू के डंक का प्रकोप चल रहा है। इसी बीच भोपाल समाचार शिवपुरी ने जिम्मेदार विभाग सीएमएचओं कार्यालय के बाहर के हालात दिखाए थे। जहां गंदगी और पानी से हालात यह मिले की इस कार्यालय में जाना तक संभब नहीं था। यह खबर दिखाने के बाद अधिकारी महज इस पानी को निकालने का दाबा तो करते रहे। परंतु पानी को निकाल नहीं सके।