विनेगा आश्रम: धर्म के घर में अधर्म, सेवादार राहुल ने दिवगंत महाराज ब्रजानंद को किया अपना पिता घोषित, मामला दर्ज - Shivpuri News

शिवुपरी। खबर जिले के सतनवाडा थाने से आ रही है कि थाना अंतर्गत आने वाले प्रसिद्ध आश्रम विनेगा आश्रम के एक सेवादार पर धोखाधडी का मामला दर्ज किया हैं। बताया जा रहा हैं कि आरोपी ने आश्रम के दिवगंत संत ब्रजानंद की संपत्ति का उत्तराधिकारी बनने के लिए फर्जी दास्तावेज तैयार कर षडयंत्र की रचना की है। पुलिस ने एक आवेदन की जांच करते हुए युवक पर मामला दर्ज कर लिया हैं।

जानकारी के अनुसार विनेगा आश्रम के सेवादार विक्रांत तोमर ने कुछ दिन पूर्व सतनवाडा थाने में आवेदन दिया था। आवेदन के अनुसार 2013 से आश्रम में सेवादार बनकर रह रहा युवक राहुल पुत्र वीरेन्द्र गुप्ता निवासी आलीगढ से आता जाता रहता था। सेवादार ने विक्रांत ने बताया कि वह एक दिन आश्रम के मुख्य संत दिवगंत ब्रजानंद महाराज के कक्ष की सफाई कर रहा था।

तभी सफाई में उसे कागजात मिले,उन दास्तावेजा को देखा तो वह राहुल के थे,इसमें चौकाने वाली बात यह थी सफाई मे मिल दास्तावेज जैसे आधार कार्ड,वोटर कार्ड,पासपोर्ट में राहुल के पिता का नाम संत ब्रजांनद लिखा हैं। इतना ही श्री महाराज के हथियार को भी उसने अपने नाम कराने का आवेदन के रूप मे एक पत्र गृह सचिव को लिखा है।

इन दास्तावेजो से राहुल की नियत पर शंक होता हैं,कही यह फर्जी दास्तावेज बनवाकर राहुल संत ब्रजानंद महाराज जी की संपत्ति का उत्तराधिकारी बनने का षडयंत्र तो नही रच रहा हैं इसलिए यह कूटरचित दास्तावेज बनाए गए हैं,इन दास्तावेजो में दिवगंत महाराज ब्रजानंद को राहुल ने अपना पिता घोषित कर दिया। पुलिस ने आवेदन की जांच करते हुए राहुल पर रविवार को मामला दर्ज कर लिया हैं राहुल अभी फरार बताया जा रहा हैं।