सहकारी बैंक घोटाला अपडेट: रामेश्वरम धाम की 12 प्रॉपर्टीयों पर बैंक ने जड़े ताले, कुर्की के लगाए बोर्ड, यहां देखे क्या किया है कुर्क- Shivpuri News

शिवपुरी। खबर जिले के कोलारस में सहकारिता में हुए 148 करोड के घोटाले के तार खुलते ही इस मामले में सहकारिता विभाग ने इस पूरे काण्ड के कर्ता धर्ता राकेश पाराशर सहित चार लोगों पर धोखाधडी की धाराओं में मामला दर्ज कर बसूली में जुट गए। परंतु इस दौरान एफआईआर दर्ज होते ही इस काण्ड के सभी आरोपी फरार हो गए। जिसके चलते अब बैंक की और से इनकी सभी प्रोपर्टीयों को जप्त करने के लिए आज बसूली अधिकारी पहुंचे इन संपतियों को कुर्क करने इनपर बोर्ड लगाए है।

जानकारी के अनुसार आज संयुक्त आयुक्त द्धारा उपपंजीयक कार्यालय से बसूली अधिकारी डॉ लोकेश शर्मा पंजीयक कार्यालय से कोलारस पहुंचे। जहां रामेश्वर धाम की 12 प्रापर्टीयों को कुर्क कर उनके सामने बोर्ड लगाए है। साथ ही इस पूरी प्रोपर्टी को विधिकक्ष प्रभारी रामलखन डौनेरिया को सुपुर्द किया है। इस दौरान एक संपत्ति की कुर्की के दौरान कुर्की अधिकारी और वहां पहुंचे प्लॉॅट के मालिकों में नौंख झौंक भी हो गई।

बताया गया है रामेश्वर धाम ने 31 जुलाई को इस घोटाले का खुलासा के बाद 2 करोड रूपए आनन फानन में जमा कराए है। अब जब संपत्ति को कुर्क करने टीम पहुंची तो सामने आया कि गुना बायपास पर एक जमींन 106 1 रकवा 4 हजार फिर का सौंदा रामेश्वर धाम परिवार ने 30 जुलाई को ही सुनीता पत्नि पहलवान धाकड,क्रांति पत्नि ओमप्रकाश धाकड,प्रीति पत्नि दिलीप धाकड को बैंच दी थी। जिसकी विधिवत शासकीय रेट 22 लाख 60 हजार रूपए आ रही है। जबकि यहां आज के हालात में यह जमींन 50 लाख रूपए के लगभग रेट की है।

परंतु आज जैसे ही टीम इस जमींन पहुंची तो जिन्होंने उक्त जमींन को खरीदा है वह भी मौके पर जा पहुंचे और टीम को बताया कि उन्होंने तो यह जमींन रूपए देकर खरीदी है। वह लागातार इस जमींन के सीमांकन के लिए चक्कर लगा रहे है। परंतु उनकी रजिस्ट्री तो हो गई पर उसका अब नामातंरण नहीं हो पा रहा है। तो उसमें उनकी क्या गलती है। जिसपर टीम ने उन्हें खुले शब्दों में जबाव दे दिया कि उनके पास सहकारिता न्यायालय का आदेश है। अगर आपको यह गलत लग रहा है तो आप न्यायालय चले जाए और वहां वोर्ड लगा दिया।

इस दौरान रामेश्वर धाम की जमींन पर जो आदेश आज अधिकारी लेकर आए उसमें कृषि भूमि का उल्लेख था। परंतु जब मौके पर पहुंचे तो वहां उस कृषि भूमि में एक स्थान पर वेयर हाउस तो दूसरे स्थान पर आटे का मिल मिला।

जिसे प्रशासन ने आगे आदेश लाकर फिर से कुर्क करने की बात कही है। अब इस अंधेरे विभाग के अधिकारीयो की जितनी तारीफ की जाए वह कम है। जब उन्हें 148 करोड का घोटाला समझ नहीं आया परंतु घोटाला खुलने के बाद भी इनकी आंखे नही खुली। जिस संपत्ति के कुर्की कें आदेश तो प्रशासन ने टेविल पर बैठकर जारी कर दिए। परंतु उन्होंने कुर्की से पहले इस जमींन पर जाना तक उचित नहीं समझाा। जिसके चलते प्रशासन को यह भी नहीं पता कि वह जिस जमींन का आदेश लेकर आए है वह अब जमींन नहीं बल्कि वहां वेयर हाउस पर मिल खडे हो गए है।

यह संपत्ति हुई है कुर्क

1 मुकेश कुमार पुत्र जगदीश प्रसाद के नाम से ग्राम मानीपुरा के सर्वे क्रमांक 89मिन1/रकबा 0.178 हेक्टेयर भूमि |
2 अंजना पाराशर पत्नी राकेश पाराशर की कोलारस के सर्वे क्रमांक-350/2मिन3/रकबा 0.011 हेक्टेयर भूमि।
3 गगन पाराशर पुत्र मुकेश पाराशर की कोलारस के सर्वे क्रमांक-990 की रकबा 0.042 हेक्टेयर भूमि ।
4 चंचल पाराशर पुत्र राकेश पाराशर की ग्राम मिलक आयना के सर्वे क्रमांक-106/1 की रखना 0.272 हेक्टेयर भूमि।
5 गगन पाराशर पुत्र मुकेश पाराशर की ग्राम मिलक आयना के सर्वे क्रमांक-106/1 मिन-1 की रकबा 0.018 हेक्टेयर भूमि |
6 राकेश पाराशर पुत्र जगदीश प्रसाद पाराशर ग्राम मिलकआयना के सर्वे क्रमांक-106/1 की रकबा 0.272 हेक्टेयर भूमि।
7 शिवम पाराशर पुत्र राकेश पराशर की ग्राम मिलकआयना के सर्वे क्रमांक-106/1 की रकबा 0.272 हेक्टेयर भूमि।
8 श्रीमती अंजना पाराशर पत्नी राकेश पराशर का नगर कोलारस वार्ड क्रमांक 2 का भवन क्रमांक- 403.
9 श्रीमती रती देवी पत्नी जगदीश प्रसाद पाराशर का नगर कोलारस वार्ड क्रमांक 5 के भवन क्रमांक-84 एवं 85।
10 श्रीमती आरती पत्नी शिवम पाराशर की ग्राम गुनाटोरी तहसील कोलारस की कृषि भूमि रकवा 2.39 हेक्टेयर जो कि सर्वे क्रमांक-48,50/2 मिन2,50/मिन 1,54/1,56,58/1मिन-2 का भाग है ।
11 गगन पराशर पुत्र मुकेश पराशर की ग्राम गुनाटोरी तहसील कोलारस की कृषि भूमि रकवा 2.40 हेक्टेयर जो कि सर्वे क्रमांक-48,50/2 मिन2,50/मिन1,54/1,56,58/1मिन-2 का भाग है ।
12 राकेश पाराशर पुत्र जगदीश प्रसाद पराशर के परिजन श्रीमती अंजना, शिवम एवं चंचल के नाम से ग्राम-कुसुअन तहसील रन्नौद की कृषि भूमि रकवा 4.470 हेक्टेयर जिसका खसरा क्रमांक- 594 ,300, 130, 129, 05 व 128 हैं। इन्हें कुर्क किया गया है।