तीसरी लहर की आंशका देखते हुए मप्र में नही खुलेंगें 1 जुलाई से स्कूल: सीएम शिवराज - Shivpuri News

भोपाल। मध्यप्रदेश में फिलहाल 1 जुलाई से स्कूल नहीं खुलेंगे. कोरोना के हालात को देखते हुए सरकार ने एहतियात के तौर पर ये फैसला किया है. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ऐलान किया है कि मध्य प्रदेश में 1 जुलाई से स्कूल नहीं खुलेंगे. तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए अभी स्कूल बंद रखने का फैसला किया गया है. पहले की तरह ऑनलाइन और टीवी के जरिए पढ़ाई जारी रहेगी

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल में आज हुई मंत्री समूह की बैठक में कहा बच्चों को कोरोना की तीसरी लहर से बचाने के लिए स्कूल बंद रखना ज़रूरी है. इसलिए अभी स्कूल नहीं खोले जाएंगे. मध्य प्रदेश में 1 जुलाई से स्कूल नहीं खुलेंगे. आगे स्कूल कब खुलें इस बारे में मुख्यमंत्री शिविराज सिंह चौहान अन्य राज्यों के मुख्यमंत्रियों, स्कूल शिक्षा से संबंधित केंद्रीय मंत्रियों से चर्चा करेंगे. सबसे सलाह करने के बाद ही प्रदेश में स्कूल खोलने का निर्णय लिया जाएगा

ऑनलाइन और टीवी से जारी रहेगी पढ़ाई

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंत्री समूह की बैठक में कहा स्कूलों में फिलहाल बीते साल की तरह ही ऑनलाइन पढ़ाई जारी रहेगी। ऑनलाइन और टीवी के माध्यम से ही स्टूडेंट्स की पढ़ाई कराई जाएगी। वॉट्सएप के माध्यम से पाठ्य पुस्तक के आधार पर वर्कशीट छात्र छात्राओं को उपलब्ध कराई जाएगी। शिक्षण संस्थानों को शुरू करने के लिए 100% टीकाकरण और कोविड गाइड लाइन का पालन जरूरी है

मंत्री समूह ने दिया प्रजेंटेशन

मध्यप्रदेश में शैक्षणिक गतिविधियों को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के सामने मंत्री समूह ने प्रजेंटेशन दिया। मंत्री समूह में स्कूल शिक्षा मंत्री इन्दर सिंह परमार, मंत्री गोपाल भार्गव, विश्वास सारंग, मीना सिंह, उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव, राम किशोर कांवरे शामिल थे. मध्यप्रदेश में डेढ़ साल से स्कूल बंद हैं. कक्षा पहली से लेकर कक्षा बारहवीं के छात्र छात्राओं की डेढ़ साल से ऑनलाइन पढ़ाई जारी हैं।