उड़ती शिवपुरी का उदाहरण देखने को मिला आज, नशे का आदी है समीर गांधी के घर में घुसकर गोली चलाने वाला युवा - Shivpuri News

शिवपुरी। शिवपुरी में नशे का कारोबार लगातार अपने पैर पसार रहा हैं। शहर के हर क्षेत्र में नशे बिकता हुआ दिखाई देता है। शिवुपरी में स्मैक का कारोबार भी फलफूल रहा हैं स्मैक का नशा करने वाले बडी क्राईम को अंजाम देने में भी नही चुक रहे। समीर गांधी के घर पर गोली काण्ड मे दबौचा गया युवा भी नशे का आदी है और राघवेन्द्र नगर में हुए किरण हत्याकाण्ड से जुडे आरोपियो के साथ घूमता देखा जाता है।

जैसा कि विदित है कि आज दोपहर लगभग 11.18 मिनिट पर समाज सेवी समीर गांधी के घर मे एक गौरव तिवारी किचिन तक घुस गया और कट्टे से 4 फायर कर दिए। गनीमत यह रही कि 4 मे से 3 फायर मिस हो गए और 1 गोली समीर गांधी के नौकर चंदेह सिह परिहार के हाथ में लगी। इस युवा को घटना स्थल पर ही दबौच लिया गया और पुलिस के हवाले कर दिया। यह युवा भी नशे का आदी हैं और इसका मनसिक सतुलन सही नही है।

स्मैक के नशे ने ली थी शिवानी की जान

शहर की एक युवती की जान भी टिकिट यानि स्मैक के नशे ने ले ली है। स्मैक के नशे की आदी शिवानी की उसके दोस्तों ने स्मैक का ओवरडोज दे दिया था जिससे उसकी मौत हो गई और उसके बाद उसके दोस्त उसके शव को ऑटो में रखकर उसे एक कालोनी में रख आए थे जिसके बाद सीसीटीवी कैमरे से पूरे मामले का पटाक्षेप हो सका।

नशे और महंगे शौक के लिए किया गई थी किरण गुप्ता की हत्या

शहर का चर्चित किरण गुप्ता की हत्या हत्यारे ने नशे और मंहगे शौक पूरा करने के लिए की थी। किरण गुप्ता की हत्या के मामले में पुलिस ने 5 युवाओ को आरोपी बनाया था जिसमें 3 युवा 25 वर्ष से अधिक नही थे और 2 आरोपी नाबालिक थे।

कहने का सीधा अर्थ है शहर के युवा नशे की गिरफ्त मे है और यह कोई भी बडा क्राईम नही करने से नही चूक रहे है। 2 हत्याओ में आरोपी नशे के आदी थे आज अगर फायर मिस नही होते तो बडा हादसा हो सकता था। जिम्मेदारी पुलिस आधिकारियो सहित शहरवासियो को शिवुपरी को नश मुक्त करने की शपथ लेनी होगी।

300 से 500 में टिकिट का नशा

शिवपुरी शहर की बात करें तो टिकिट का नशा युवाओं की रगो में दौड रहा है। शहर के कई युवा स्मैक यानि टिकिट का नशा कर रहे हैं और यह नशा उन्हें 300 से 500 रूपए में मिल रहा है। इतना ही नहीं अब यह नशा गांव गांव में भी बिकने लगा है यहीं वजह है कि अब गांव गांव में भी टिकिट के नशे के आदी युवक मिल रहे हैं।

गुना और राजस्थान से आती है स्मैक शिवपुरी

शिवपुरी में स्मैक गुना और राजस्थान से आती है। गुना की सीमा राजस्थान से सटी है जहां गुना के बाद इसे शिवपुरी कार द्वारा भेजा जाता है जिसके बाद यहां इसे खपाने की जबावदारी कुछ युवकों ने ले रखी है जो युवाओं को इसका आदी बना रहे हैं। इतना ही नहीं कुछ लोग राजस्थान के कोटा सहित अन्य जगहों से स्मैक ला रहे हैं जबकि कई बार पुलिस ने स्मैक के साथ कई लोगों को गिरफतार भी किया है।

पुलिस को चलाना होगा अभियान

शिवानी की मौत के बाद शहर के लोगों का आक्रोश देखते ही बन रहा था और कई लोग टिकिट के नशे के खिलाफ खडे हुए थे लेकिन इसके बाद पुलिस ने ताबडतोड कार्रवाई भी की लेकिन अब स्मैक के खिलाफ अभियान पूरी तरह से ठप्प हैं ऐसे में युवाओं को स्मैक के नशे से दूर करने के लिए अभियान चलाया जाए और इनके कारोबारियों को कठोर सजा दी जाए जिससे यह युवा पीढी को बर्बाद न कर सकें।