दुल्हारा गांव में कोविड की जांच करने गई स्वास्थ्य टीम को महिलाओं ने लठठों के बल पर खदेडा - Pohri News

पोहरी। कोरोना को काबू करने के जिए प्रशासन ने गांवो में फोकस करना शुरू कर दिया है,लेकिन ग्रामीण कोरोना की जांच से इतना डरे हुए हैं कि वह स्वास्थय टीम पर हमलावर हो जात हैं,2 दिन पूर्व पोहरी के ग्राम टोडा में ग्रामीणो ने स्वास्थय टीम पर हमला कर दिया था।

आज ग्राम दुल्हारा में गांव वालों ने पत्थर मारकर कोरोना की जांच करने गई टीम को भगा दिया। यदि इसी तरह से कोरोना को लेकर स्वास्थ्य टीम पर यदि हमला होगा तो कोरोना को कैसे हराया जा सकेगा।

दल को लौटना पडा बैरंग
पोहरी अनुविभाग के ग्राम दुल्हारा की आदिवासी बस्ती में कोरोना की जांच करने गई स्वास्थ्य विभाग की टीम को ग्रामीणो ने बस्ती में घुसने तक नही दिया। महिला अपने हाथो में लाठियां लेकर आ गई,पुरूष पत्थर मारने पर उतारू हो गए।

बताया जा रहा है कि स्वास्थय विभाग की टीम ने उन्है समझाने का प्रयास किया तो महिलाए हाथ में लाठिया लेकर मैदान में आ गई। कोई बडी अनहोनी न हो जाए इस कारण स्वास्थय विभाग बिना जांच करे ही बैंरग लौट आई।


थोथे रहे जागरूकता के दावे
कोरोना को लेकर भले ही प्रशासन ने दावा किया था कि वह गांव गांव जागरूकता फैला रहे हैं लेकिन आज भी हालात यह है कि कोरोना की जांच करने वाली टीमों पर गांवों में आए दिन हमले हो रहे हैं यह शर्मनाक स्थिति है।

गांवों में करना होगा फोकस नहीं तो हालात गंभीर
कोरोना को लेकर शहरी क्षेऋ में तो जागरूकता आ गई है और लोग कोरोना को लेकर अपनी जांच से लेकर उपचार कराने के लिए आगे आ रहे हैं लेकिन गांवों में हालात खराब है। लोग कोरोना को हल्के में ले रहे हैं ऐसे में यदि गांवों में फोकस नहीं किया तो हालात और भयावह हो सकते हैं।