कोरोना की तीसरी वेव से बचाव में भी प्रभावी सिद्ध होगा "योग से निरोग" कार्यक्रम: शिवराज सिंह चौहान - bhopal news

शिवपुरी। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण की स्थिति में लगातार सुधार हो रहा है। पॉजिटिविटी रेट 5.4 प्रतिशत हो गया है। मरीजों की संख्या लगातार कम हो रही है और स्वस्थ होकर घर जाने वाले व्यक्तियों की संख्या लगातार बढ़ रही है।

उन्होंने कहा कि कोरोना के प्रकरण न्यूनतम होने के बाद भी प्रदेश में 'योग से निरोग' कार्यक्रम जारी रहेगा, क्योंकि हमें प्रदेशवासियों को कोरोना की तीसरी वेव के लिए तैयार करना है। रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने और व्यक्ति को स्वस्थ, सकारात्मक एवं ऊर्जावान बनाए रखने में योग बहुत प्रभावी है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान 'योग से निरोग' कार्यक्रम के अंतर्गत होम आइसोलेशन प्रतिभागियों एवं योग प्रशिक्षकों से निवास से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग द्वारा संवाद कर रहे थे। कार्यक्रम में गुरु देव श्री श्री रविशंकर तथा योग गुरू स्वामी रामदेव ने भी प्रतिभागियों को ऑनलाईन मार्गदर्शन प्रदान किया।

कार्यक्रम में स्कूल शिक्षा राज्य मंत्री श्री इंदर सिंह परमार, आयुष राज्य मंत्री श्री रामकिशोर कावरे, संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री सुश्री उषा ठाकुर, महर्षि पतंजलि संस्कृत संस्थान के अध्यक्ष श्री भरत बैरागी, इण्डियन योग एसोसिएशन की चेयरपर्सन डॉ. पुष्पांजलि शर्मा, प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा श्रीमती रश्मि अरुण शमी तथा प्रमुख सचिव आयुष श्रीमती करलिन खोंगवार देशमुख भी ऑनलाइन सम्मिलित हुईं।

योग के परिणामस्वरूप कोरोना का घातक प्रभाव नहीं हुआ

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा है कि मैं स्वयं कोरोना से प्रभावित हो गया था। चूंकि मैं कई वर्षों से योग कर रहा हूँ। अत: कोरोना का कोई घातक प्रभाव मुझ पर नहीं हुआ। हमारे परिवार के सभी सदस्य प्रतिदिन ध्यान और प्रणायाम अभ्यास करते हैं। मेरा यह व्यक्तिगत अनुभव है कि योग आत्म-विश्वास, सकारात्मकता और ऊर्जा बनाए रखने का प्रभावी माध्यम है।

कोरोना के बाद आ रही ब्लैक फंगस, वाइट फंगस जैसी जटिलताओं से बचने में आयुर्वेदिक परंपराएँ, योग का अनुसरण सहायक सिद्ध हो सकता है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रदेश में कोविड के होम आइसोलेशन रोगियों को मार्गदर्शन देने के लिए श्री श्री रविशंकर गुरुदेव और योग गुरु श्री रामदेव जी का आभार माना।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने होम आइसोलेशन रोगियों खण्डवा की श्रीमती खैरुनिशा परियानी, खण्डवा के ही श्री सुरेन्द्र जैन, बालाघाट की श्रीमती जयश्री ठाकरे और ग्वालियर के योग प्रशिक्षक श्री जयदयाल शर्मा और श्रीमती आराधना दुबे से बातचीत भी की।