पहली बरसात में धसकी 60 करोड से बनने वाली नवनिर्मित थीम रोड: राजे ने लगाई क्लास

शिवपुरी। 18 बटालियन से रायश्री तक बनने वाली नवनिर्मित थीम रोड बैमौसम बरसे बदरा में धसक गई। मंगलवार को हुई बारिश के दौरान ग्वालियर बायपास से ग्वालियर की ओर जाने वाले मार्ग पर थीम रोड एक रोड किनारे धसक गई हैं। बताया जा रहा है कि इस सडक धसकने की जानकारी राजे तक पहुंची तो उन्होने अधिकारियो को गुणवत्ता को लेकर क्लास लगाई।

अधिकारियों का कहना है कि यहां पर पास में ही सीवर का चेंबर बना हुआ है। सीवर के चेंबर 30-30 फीट के गढ्डे खोदे गए हैं। इसकी वजह से सड़क धंसी होगी। यह मामूली सी बात है। भले ही अधिकारियों के लिए यह मामूली बात हो, लेकिन वर्षों से इस प्रोजेक्ट के लिए जो जनता परेशानी उठा रही है उसके लिए यह बड़ा सवाल है कि आखिर हल्की बारिश में यह हाल हुआ है तो मानसून में यह सड़क कैसे टिक पाएगी।

पीडब्ल्यूडी विभाग ने इस सड़क के निर्माण के समय दावे किए थे कि यह सड़क की गुणवत्ता ऐसी होगी कि यह 50 साल तक चलेगी। थीम रोड के लिए होने वाली समीक्षा बैठकों में भी पीडब्ल्यूडी विभाग के ईई बीएस गुर्जर बड़े दावे करते रहे जिनकी अब पोल खुलती नजर आ रही है। यदि समय रहते थीम रोड पर ध्यान नहीं दिया गया तो यह प्रोजेक्ट के हाल भी सिंध जलावर्धन योजना और सीवर प्रोजेक्ट जैसे होते देर नहीं लगेगी।


मंत्री तक पहुंची जानकारी तो दौड़े-दौड़े आए अधिकारी
सड़क धसकने की जानकारी कैबिनेट मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया तक भी पहुंच गई। यह उनका ड्रीम प्रोजेक्ट है और इसे लेकर वे काफी संजीदा रही हैं। जब मंत्री को इसकी जानकारी मिली तो उन्होंने अधिकारियों की क्लास लगा दी। पीडब््ल्यूडी के ईई बीएस गुर्जर सहित अधिकारी मौके पर पहुंचे और निरीक्षण किया। कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह ने भी मौके पर जाकर सड़क का निरीक्षण किया।

60 करोड़ से ज्यादा है लागत, पुल-पुलिया का निर्माण अभी शुरू नहीं
18 वीं बटालियन तिराहे से रायश्री तिराहे तक 13.50 किमी की फोरलेन थीम रोड़ बनाई जा रही है जिसकी लागत करीब 65 करोड़ रुपये है। दिसंबर तक इसका शिफ्टिंग का काम पूरा हो गया था और अप्रैल तक इसका डामरीकरण पूरा किया जाना था। डामरीकरण का काम भी लगभग पूरा हो गया है। थीम रोड में करीब 13 पुल और पुलियों का निमार्ण होना है। इनका निर्माण अभी शुरू नहीं हुआ है। पीडब्ल्यूडी विभाग और ठेकेदार की लापरवाहियों से यह प्रोजेक्ट लगातार लेट हो रहा है और इसके कारण लागत भी बढ़ रही है।

31 अप्रैल तक होना था निर्माण पूरा, होर्डिंग लगाकर प्रकट किया था खेद  
पहले ही अपने तय समय से सालों लेट चल रही थीम रोड का निर्माण पूरा होने का लक्ष्य 31 अप्रैल 2021 रखा गया था। शहर में जगह-जगह पर होर्डिंग लगाकर जनता से असुविधा के लिए खेद प्रकट किया गया था। जनवरी के माह तक इसका बहुत ही कम काम हुआ था। इसके बाद कैबिनेट मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया द्वारा लगातार मॉनीटरिंग करने पर काम में तेजी आई। लगातार थीम रोड काे लेकर समीक्षा बैठक भी हुईं।

इसके बाद ठेकेदार कंपनी जल्दी काम करना शुरू किया, लेकिन इस जल्दबाजी में किस तरह का निर्माण किया गया यह सामने आ गया है। कोरोना काल में ट्रैफिक की आवाजाही बिल्कुल बंद थी। ऐसे में कंपनी के पास अच्छा मौका था कि वह सड़क का बचा हुआ काम जल्द से जल्द पूरा कर ले। लेकिन कफ्र्यू के दौरान इसके निर्माण की गति भी कछुआ चाल से चली। अब दोबारा यह प्रोजेक्ट लेट हो गया है।