पेयजल संकट: बंद पडा हैं पोहरी की प्यास बुझाने वाला ट्यूबबैल, आधी पोहरी के कंठ सूखे - Pohri News

पोहरी। पोहरी नगर पंचायत तो बन गई परंतु अभी तक व्यवस्थाएं सुचारू नहीं हो सकी है, जिसका खामियाजा यहां की जनता को उठाना पड़ रहा है। पोहरी की आधी आबादी को पानी पिलाने वाला एकमात्र नलकूप विगत 11 मार्च से बंद है, नलकूप में मोटर गिर जाने के चलते यह समस्या उत्पन्न हुई है परंतु प्रभारी अधिकारी एवं प्रशासक एसडीएम पोहरी 8 दिनों के बाद भी इस नलकूप की मोटर को ठीक नहीं करा सके।

जब इस बारे में अधिकारियों से चर्चा की गई तो वह अभी भी 2 दिन और लगने की बात कह रहे हैं। अधिकारियों का कहना है कि नई मोटर का ऑर्डर कर दिया गया है जो एक या 2 दिन में पोहरी आ सकती है, परंतु बड़ा सवाल यह है कि जिस काम में तत्परता दिखाई जानी चाहिए थी उस काम में 8 दिन से अधिक का वक्त लग गया।

भीषण गर्मी के दौर में आम लोगों को पीने का पानी तक उपलब्ध नहीं हो पा रहा।एक यही बोरबेल हैं जो पोहरी के मुख्य बाजार रोड,शिवकॉलोनी,जलमंदिर रोड,कटरा मोहल्ला,पडा बाग और अमरईआ रोड पर निवास करने वाले लोगो की प्यास बुझाता हैं अब बोर बेल् खराब होने के कारण आधी आबादी के कंठ सूखे हैं,लोग हाथ में कट्टी लेकर दूर—दूर तक से पानी का इंतजाम कर रहे हैं।

इनका कहना हैं
हमने नई मोटर के लिए आर्डर कर दिया है एक-दो दिन में मोटर आ जाएगी जिससे लोगों को फिर से नलों में पानी प्राप्त होने लगेगा।
गोविंद प्रसाद भार्गव
मुख्य नगर परिषद अधिकारी

मेरे द्वारा इस विषय में प्रभारी अधिकारी को आदेशित कर दिया गया है और शीघ्र ही जल समस्या का समाधान किया जाएगा ।
जे पी गुप्ता,प्रशासक नप पोहरी एवं अनुविभागीय अधिकारी