कोरोना में फिर फसी शादिया : दुकानो में लिखनी होगी ग्राहको की क्षमता नही तो होगी कार्रवाई - Shivpuri News

शिवपुरी। कोरोना को लेकर एक ओर जहां देश में लॉकडाउन लगा था तो किसी तरह से अनलॉक होने के बाद अब एक बार फिर कोरोना ने अपने पैर पसारना शुरू कर दिए है और जिले में 31 मरीज कोरोना पॉजिटिव सामने आए हैं जिनमें से 8 मरीज ग्रामीण इलाकों से सामने आए हैं।

ऐसे में चिंता की बात यह है कि कोरोना ने ग्रामीण इलाकों में भी पैर पसारना शुरू कर दिए है। जिससे लगता है कि अब कोरोना पूरे जिले में फैलेगा और मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा होगा। कोरोना पर अंकुश लगाने क्राइसिस मैनेजमेंट की बैठक का आयोजन किया गया जिसमें कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए। अब बाहर से आने वाले लोगों को अपनी जानकारी छुपानी नहीं होगी यदि छुपाई तो उन पर जुर्माना लगाया जाएगा।

बाहर से आने पर देने होगी जानकारी, नही तो 1 हजार फाईन

यदि आप बाहर जा रहे हैं तो सोच समझकर जाइए क्योंकि यदि आपने बाहर जाने के बाद लौटने पर अपनी जानकारी प्रशासन को नहीं दी तो प्रशासन आप पर सख्त कार्रवाई करेगा। जिसमें आप पर 1 हजार रूपए फाइन भी किया जा सकता है। क्योंकि पहले लोग अपने आने की जानकारी छुपाते थे और बाद में कोरोना पॉजिटिव आने पर प्रशासन को परेशानी का सामना करना पडता था यही कारण है कि अब बाहर से आने पर जानकारी देनी होगी।

दुकानों पर लगाने होंगे क्षमता के बोर्ड

दुकानों पर भी ग्राहकों की क्षमता के बोर्ड लगाने होंगे इतना ही नहीं यदि आपकी दुकान में 5 ग्राहक की क्षमता है और आपकी दुकान में 10 ग्राहक मिलते हैं तो आप पर 1 हजार का फाईन किया जाएगा।

अब मुंह दिखाई के लगेंगें 100 रूपए

अब मास्क को लेकर भी सख्ती अपनाई जा रही है यदि मास्क नहीं तो आपको अपनी जेब ढीली कर 100 रूपए का फाइन भरना होगा। इतना ही नहीं अब सब्जी से लेकर फल कारोबारियों को मास्क लगाने होंगे साथ ही ग्राहकों को भी मास्क का पालन करना होगा।

कोचिंग और कॉलेज में भी 50 प्रतिशत क्षमता

कोचिंग और कॉलेजों में भी कोरोना के कहर को देखते हुए क्षमता पर नियंत्रण रखा गया है। कॉलेज और कोचिेंग में 50 प्रतिशत क्षमता ही रखनी होगी जिससे कोरोना पर नियंत्रण रखा जा सके और सुरक्षित दूरी का पालन हो सके। यही नियम होटल और रेस्टोरेंट पर भी लागू होगा।

शादी में 200 तो तेरहवीं में 100

शादी समारोह में 200 तो तेरहवीं में 100 लोगों को ही आमंत्रित किया जा सकता है। यह नियम फिॅर से लागू कर दिया गया है और शादी सहित अन्य आयोजनों की निगरानी के लिए समिति बनाई जाएगी।

धार्मिक आयोजन व भंडारों पर रोक

धार्मिक आयोजन सहित भंडारों पर भी रोक लगा दी गई है साथ ही सिद्धेश्वर का मेला भी इस बार आयोजित नहीं होगा यह निर्णय लिया गया है।