डेढ घंटे SDM सहित प्रशासन का अमला खडा रहा था दुकान के बहार,नही आया सैल्समैन

करैरा। करैरा तहसील के चिन्नौदी गांव में गरीबों को मिलने वाले राशन की कालाबजारी करने पर सेल्समैन सहित प्रबंधक के खिलाफ करैरा पुलिस थाने में गुरुवार को आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज हो गया है।

गौरतलब है कि शिकायत मिलने पर खुद करैरा सडीएम, तहसीलदार व कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी को लेकर चिन्नौदी गांव पहुंचे थे। सेल्समैन को बुलवाने पर भी नहीं आया और एसडीएम डेढ़ घंटे इंतजार करते रहे। आखिरकार पोर्टल से दुकान के आवंटन से संबंधित रिकार्ड निकलवाया और गांव वालों के बयानों के आधार पर राशन घोटाला पकड़ा गया।

करैरा के कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी रूपेंद्र सिंह परमार की रिपोर्ट पर पुलिस ने उचित मूल्य दुकान चिन्नौदी के सेल्समैन लक्ष्मीनारायण जाटव और प्रबंधक अमर प्रकाश श्रीवास्तव के खिलाफ आवश्यक वस्तु अधिनियम की धारा 3ध्7 के तहत मुकदमा दर्ज करा दिया है। 8 फरवरी को एसडीएम राजन नाडिया, तहसीलदार गौरीशंकर बैरवा और कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी चिन्नौदी पहुंचे थे।

डेढ़ घंटे इंतजार के बाद भी सेल्समैन नहीं आया था। आखिरकार प्रशासन को दुकान सील करना पड़ी थी और रिकार्ड निकलवाने पर खुलासा हुआ कि जो राशन वितरण के लिए आया था, दरअसल वह हितग्राहियों तक पहुंचा ही नहीं। यानी सेल्समैन और प्रबंधक ने मिलकर राशन की कालाबाजारी कर दी। गुरुवार को कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी के माध्यम से केस दर्ज कराया गया है।