रेश्म माता मंदिर पर पशुबलि रोकने भेजा सीएम को पत्र: बलि प्रथा धर्म के खिलाफ हैं - kolaras News

कोलारस। जिले की कोलारस तहसील में भडौता-गणेशखेड़ा मार्ग स्थित धार्मिक स्थल रेशम माता मंदिर धार्मिक आस्था का केंद्र है। यहां मनौती के नाम पर पशु बलि की प्रथा है। जिस पर विराम लगना चाहिए।

माता की भक्ति से भी सभी कामना पूरी की जा सकती हैं, लेकिन जिस तरह से पशुओं की बलि दी जा रही है वह सीधी-सीधी हिंसा है। और हम ऐसी हिंसा पर रोक लगाने की पहल प्रशासन से करते है।

ताकि कोई भी व्यक्ति, वहां किसी भी प्राणी की हिंसा न की जा सके। यह मांग अहिंसा प्रेमियों में शुमार समाजसेवी महेंद्र कुमार दुबे और उनके साथियों ने मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान को लिखी पाती में कही है।

रेशम नाम से प्रसिद्ध माता मंदिर पर श्रद्धालुओं द्वारा मनौती पूरी होने के नाम पर विभिन्न पशु -पक्षियों की नृशंस बलि दी जाती है। बलि प्रथा धर्म विरुद्ध है। सभी जीव, ईश्वर की संतान हैं और सभी जीवों को इस लोक में जीवन जीने का अधिकार है।

कोई भी देवी-देवता अपनी ही संतान के वध पर प्रसन्न नहीं हो सकते इसलिए सीएम साहब आप अंधविश्वास पूर्ण प्रथा पर विराम लगवाइए। ताकि अहिंसा पूर्वक माता की आराधना हो सके।