किराना दुकान से 2 लाख रूपए से भरा बैग चुराने बाले तीनों नाबालिग चोर पुलिस ने दबौचे

शिवपुरी। आज कोतवाली पुलिस ने बडी कार्यवाही करते हुए ठंडी सडक शंकर काॅलोनी में जीआर इंटरप्राईजेज की दुकान में से चोरी हुए बैंग के तीनों आरोपीयों को दबौच लिया है। उक्त तीनों आरोपी नाबालिग है। जो भागने की फिराक में थे।

जानकारी के अनुसार शंकर काॅलोनी में जे आर इंटरप्राईजेज बीते 04 फरवरी को लोडिंग का चालक ठंडी सडक शंकर काॅलोनी पर सामान खरीदने पहुंचा था। तभी फरियादी ने अपना 2 लाख रूपए से भरा बैग काउण्टर पर रखकर अपने सेठ से बात करने लगा। जैसे ही उसका ध्यान पैसे से भरे बैग से हटा बैग गायब हो गया। इस मामले में पुलिस ने गंभीरता दिखाते हुए तत्काल सीसीटीव्ही फुटैज खंगाले।

पुलिस अधीक्षक शिवपुरी राजेश सिंह चंदेल द्वारा उक्त मामले को गंभीरता से लेते हुए उक्त चोरी की घटना को जल्द से जल्द ट्रेस कर आरोपियों को पकड़ने के निर्देश दिए जिस पर से अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शिवपुरी प्रवीण कुमार भूरिया के निर्देशन एवं एसडीओपी शिवपुरी सुधीर सिंह कुशवाह के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी थाना कोतवाली निरी . बादाम सिंह यादव के नेतृत्व में उक्त आरोपियों की खोज के प्रयास जारी किये गए ।

विवेचना के दौरान जीआर इंटरप्राईजेज ठंडी सड़क पर लगे सीसीटीव्ही कैमरों की फुटेज खंगाली गई , जिनमें उक्त चोरी की घटना एक लगभग 15-16 साल के नाबालिग द्वारा करती हुई दिखाई दी तथा साथ ही घटना में आसपास एक अन्य व्यक्ति की उपस्थिति भी सामने आई , विवेचना के दौरान कण्ट्रोल रूम के सीसीटीव्ही कैमरों की सहायता से कड़ी से कड़ी जोडकर उक्त घटना में सम्मिलित पांच चोरों की पहचान की गई।

आज पुलिस को मुखबिर द्वारा सूचना मिली कि उक्त घटना को अंजाम देने वाले आरोपी सिंहनिवास पुल के पास हाईवे रोड़ पर खड़े हुए हैं एवं चोरी करने के लिए कहीं जाने की फिराख में हैं।

उक्त सूचना पर से वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन में एसडीओपी शिवपुरी द्वारा एक पुलिस टीम बनाकर तत्काल मौके पर रवाना की , पुलिस टीम को वहां तीन लड़के खड़े दिखे जिनका हुलिया उक्त चोरों से मिलता जुलता था , जैसे ही पुलिस टीम वहां पहुंची वह पुलिस को देखकर भागने लगे।

जिन्हे पुलिस टीम द्वारा घेराबंदी कर दबोचकर पकड़कर पूछताछ की गई तो उन्होने बताया कि हम सिंहनिवास पुल के पास डेरा बनाकर रह रहे हैं एवं आस - पास के क्षेत्रों में चोरी करते हैं , उक्त चोरी की घटना को अपने दो अन्य साथियों के साथ मिलकर अंजाम दिया था , तथा चोरी किए गये पैसे हमने आपस में बांट लिए थे ।

बाद आरोपियों की निशादेही पर उनके कब्जे से 70000 रू की नगदी बरामद की गई । पकड़े गये तीन आरोपियों में एक बाल अपचारी है । उक्त कार्यवाही में थाना कोतवाली प्रभारी निरी . बादाम सिंह यादव , उनि . राघवेन्द्र सिंह यादव कण्ट्रोल रूम प्रभारी उनि ब्रजेन्द्र राजपूत , आर . देवेन्द्र रावत , नरेश यादव , भूपेन्द्र यादव , शरद यादव , रघुवीर पाल , शम्भूदयाल कौरव , मआर . ज्योति शर्मा , कीर्ति मोर्य , रामजी पाराशर की सराहनीय भूमिका रही ।