उत्तराखंड में लापता युवको की आशाएं हो रही हैं धूमिल,मदद के लिए प्रशासन की टीम रवाना - Shivpuri news

शिवपुरी। उत्तराखंड हादसे में शिवपुरी जिले के चार युवक अभी भी लापता हैं। हादसे को घटित हुए तीन दिन हो चुके हैं और लगातार रेस्क्यू ऑपरेशन चल रहे हैं। लेकिन इसके बाद भी युवकों का पता नहीं चला है।

इन युवकों के परिजन कल रात उत्तराखंड पहुंचे और बताया जाता है कि बुधवार को सुबह वह तलाशी अभियान में शामिल होंगे। इस हादसे में गायब हुए शिवपुरी जिले के युवक ओम मेटल कम्पनी में बेल्डिंग का कार्य करते थे। 72 घंटे गुजर जाने के बाद भी इन युवकों का पता न चलने से आशाएं धूमिल हो रही हैं।

बताया जाता है कि शीघ्र ही शिवपुरी जिले के कुछ पुलिसकर्मी और प्रशासनिक कर्मचारी भी परिजनों के साथ चमोली पहुंच रहे हंै।

कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह के निर्देश पर कल पुलिस और प्रशासन की टीम नरवर और ग्राम धमकन पहुंची। जहां उन्होंने युवकों के परिजनों से मुलाकात कर उन्हें हर संभव मदद का आश्वासन दिया। ग्राम धमकन में एसडीओपी सुधीर कुशवाह और एसडीएम अरविंद वाजपेयी पहुंचे।

धमकन में भानू प्रताप सिकरवार तथा गजेंद्र सिंह पवैया लापता हैं। इनके अलावा नरवर के राकेश लोधी और सोनू लोधी भी लापता हैं। यहां करैरा एसडीएम पी राजन नाडिया पहुंचे। लापता युवकों के परिजनों ने बताया कि इन्होंने 7 साल पहले शिवपुरी में बने मडीखेड़ा डेम में काम किया था, जिसका ठेका ओम मेटल कम्पनी के पास था।

जब यह कम्पनी उत्तराखंड में काम करने गई तो उसने इन युवकों को अपने यहां काम करने के लिए बुला लिया। कम्पनी के अधिकारियों ने युवकों के परिजनों को उनके गायब होने की सूचना दी।

कलेक्टर शिवपुरी के आदेश पर प्रशासन की टीम लापता युवको के घर पहुंचे और हर संभव मदद का भरोसा दिया। लापता युवको की तलाश में मदद करने के लिए कल बीती रात प्रशासन की एक टीम को परिजनो के साथ मिनी बस से रवाना किया गया हैं।

बताया गया हैं कि इस टीम में एएसआई हरीश सौलकी थाना नरवर, एएसआई विवेक भटट  थाना सतनवाडा, आरक्षक राहुल थाना नरवर जगवीर सतनवाडा,आरक्षक कमल सिंह गुर्जर पटवारी शिवनारायण कुश्वाह और सतीश धाकड परिजनो के साथ गए हैं।