देश के स्वच्छ शहरो में शामिल होने प्रत्येेक नागरिक को करना होगा प्रयास - Shivpuri news

शिवपुरी। वर्ष 2021 के स्वच्छता सर्वेक्षण में शिवपुरी नगर पालिका ने 3 स्टार रैंकिंग के लिए आवेदन दिया है। नपा की कोशिश है कि पिछली बार की 101 रैंक सुधारी जाए और देश के सबसे स्वच्छ 100 शहरों में शामिल हों। स्वच्छता के लिए अब नगर पालिका भी कड़ा रुख अपनाने जा रही है। शहर को स्वच्छ बनाने में शहरवासियों की महती भूमिका है।

कचरा गाड़ी आने के बाद भी इसमें कचरा नहीं डालते हैं और यह कचरा खुले और खाली स्थान में डाल रहे हैं। दरअसल कचरा कलेक्शन की सुविधा निःशुल्क दी जा रही है। इसलिए लोग इसे लेकर संजीदा नहीं हैं। अब नगर पालिका  चार्ज लगाने की तैयारी कर रही है। इसके साथ ही अब कचरा फैलाने वालों से भी सख्ती से निपटा जाएगा।

हर घर से निकलने वाले कचरे को सिर्फ कचरा गाड़ी में ही डालना होगा। कहीं और डाला तो उस पर जुर्माना लगाया जाएगा। इसी को लेकर गणतंत्र दिवस के दिन स्वच्छता गाडियों को कैबिनेट मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया शहर के 39 वार्डों में भ्रमण करने वाली कचरा गाडियों को हरी झंडी दिखा कर रवाना किया।

साथ ही दो गाडियों पर वाहन चालक न होने पर नाराजगी भी व्यक्त की। साथ ही उन्हें नोटिस देने के लिए सीएमओ को भी निर्र्देशित कियाए लेकिन इसके बाद भी आज भी शहर के 39 वार्डों में कचरा गाड़ी कचरा लेने नहीं पहुंच पा रही हैं यह सबसे बड़ा सवाल हैं।

ऐसी स्थिति में कैसे वर्ष 2021 के स्वच्छता सर्वेक्षण शिवपुरी नगर पालिका में शामिल हो पायेगी यह बहुत बड़ा सवाल खड़ा हैं। शहर को स्वच्छ बनाने के लिए कैबिनेट मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने गणतंत्र दिवस के अवसर पर  शहर सभी सफाई दरोगाओं को अलग से बुलाकर साफ निर्देश दिए कि यह शहर आपका अपना हैं और इसकी साफ सफाई की जिम्मेदारी भी अपनी हैंए हमें अपने शहर को स्वच्छ बनाना हैं इसको लेकर काफी चिंतत नजर आई।

गाडियों में तीन बॉक्सों में कैसे डालना है कचरा
घरों पर आने वाली गाडियों में सूखा व गीला कचरा तो पहले की तरह डालना होगा लेकिन अब तीन अन्य बॉक्स में से एक में इलेक्ट्रॉनिक कचरा जैसे कंप्यूटर पार्ट्सए मोबाइलए चार्जरए गैजेट आदि कचरा डालना है। तीसरे बॉक्स में जैव संक्रमित कचरा जैसे सेनिटरी पैड व डायपर आदि डालना होगा। तीसरा बॉक्स बोयावेस्ट के रूप में मास्कए ग्लव्स व एक्सपायरी दवाएं व दवाओं का कचरा आदि डालने के लिए रखा गया है।

इन नगर पंचायतों को किया शामिल
जिले मे हाल ही में गठित तीन नगरीय निकाय पोहरी, रन्नौद और मगरौनी स्वच्छ सर्वेक्षण. 2021 में शामिल नहीं हैं क्योंकि तीनों नए निकाय में अभी अमला, इन्फ्रास्ट्रक्चर आदि उपलब्ध नहीं है। नगर पालिका शिवपुरी सहित जिले की नगर परिषद कोलारस, बदरवास, नरवर, करैरा, पिछोर, खनियाधना और बैराड़ सर्वेक्षण की दौड़ में शामिल हैं।