शिवपुरी नगर पालिका अध्यक्ष के लिए सबसे ज्यादा टिकिट मांग रहे हैं उम्मीदवार राजे समर्थक: यह हैं दौड में - Shivpuri News

शिवपुरी। नगरीय निकाय चुनाव कोरोना संक्रमण के प्रभाव के कारण तीन महीने लटकने से टिकट के दावेदारों में निराशा छा गई है। एक दावेदार ने बताया कि अब उन्हें पूरे तीन महीने और मेहनत करनी होगी तथा अपने वरिष्ठ नेताओं का विश्वास जीतना होगा। वहीं जनता से भी सतत सम्पर्क बनाना होगा। 

एक अन्य दावेदार ने कहा कि तीन महीने चुनाव लटकने के बाद भी वह घर बैठने को तैयार नहीं हैं और अपनी तैयारी में पूरी ताकत से जुटे हुए हैं। लेकिन चुनाव स्थगित होने से दलों ने राहत की सांस ली है। क्योंकि अब उनके पास उम्मीदवारों को परखने का समय मिल गया है। 

शिवपुरी नगर पालिका अध्यक्ष पद का चुनाव सामान्य महिला के लिए आरक्षित हुआ है। आरक्षण के पश्चात दावेदारों के नाम बड़ी संख्या में सामने आने लगे। जिनमें पार्टी में सक्रिय महिला नेत्रियों से अधिक वे नाम अधिक थे जिनके पति या परिजन राजनीति में हैं। पार्टी में सक्रिय महिला नेत्रियों में श्रीमति मंजूला जैन, श्रीमति रश्मि गुप्ता, विभा रघुवंशी के नाम प्रमुख हैं। 

टिकट की दावेदार अधिसंख्यक सक्रिय महिला नेत्रियां यशोधरा राजे खैमे से जुड़ी हुई हैं। 10 साल पहले असमय कालकवलित हुए भाजपा के नगर अध्यक्ष स्व. विनोद गर्ग टोडू की धर्मपत्नी श्रीमति वीणा गर्ग ने भी अपनी दावेदारी ठोक दी। इसके अलावा भाजपा चिकित्सा प्रकोष्ठ के समन्वयक डॉ. शैलेंद्र गुप्ता की धर्मपत्नी श्रीमति अंजू गुप्ता का नाम भी प्रमुख रूप से उभरकर सामने आया। 

श्रीमति अंजू गुप्ता उपभोक्ता फोरम की सदस्य रह चुकी हैं और समाजसेवा में खासी सक्रिय हैं। गुप्ता दम्पत्ति भाजपा की गुटीय राजनीति में यशोधरा खैमे से जुड़ी हुई हैं। पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष जितेंद्र जैन गोटू ने अपनी धर्मपत्नी श्रीमति ममता जैन के लिए लॉविंग शुरू कर दी। श्री गोटू यशोधरा खैमे से जुड़े हुए हैं और वह पूरी ताकत से टिकट के लिए सक्रिय हैं। भाजपा की पूर्व नगर अध्यक्ष भानू दुबे जो यशोधरा राजे के विश्वास पात्रों में गिने जाते हैं। वह भी अपनी पत्नी नीतू दुबे के लिए टिकट की मांग कर रहे हैं। 

भाजपा नेता धैर्यवर्धन शर्मा ने भी अपनी पत्नी को टिकट दिलाने के लिए फील्डिंग शुरू कर दी है। भाजपा जिला उपाध्यक्ष तेजमल सांखला अपनी पुत्रवधु श्रीमति अरूणा सांखला के लिए टिकट की मांग कर रहे हैं। भाजपा नेता तरूण अग्रवाल भी अपनी पत्नी श्रीमति श्वेता अग्रवाल के लिए टिकट प्राप्ति हेतु पूरी ताकत से जुटे हुए थे। 

इनके अलावा भाजपा जिला उपाध्यक्ष हेमंत ओझा अपनी धर्मपत्नी रवजीत कौर, भाजपा के पूर्व नगर महामंत्री भरत अग्रवाल की पुत्रवधु शिखा अग्रवाल के नाम भी टिकट के लिए सामने आ गए। टिकट की आस में यशोधरा राजे के शिवपुरी दौरे के दौरान दावेदारों की भीड़ लगने लगी। 

पिछले दिनों यशोधरा राजे खोड़ दौरे के पश्चात जब शिवपुरी में पहुंची और उनका सर्किट हाऊस पहुंचने का कार्यक्रम था, तो यहां टिकट के दावेदार सैकड़ों लोग तीन से चार घंटे तक खड़े रहे। लेकिन यशोधरा राजे कार्यक्रमों की व्यस्तता के कारण जब सर्किट हाऊस नहीं पहुंची तो दावेदारों में निराशा छा गई। तीन महीने चुनाव लटकने से अब दावेदारों की मेहनत और बढ़ गई है और वह इस समय का उपयोग अपनी संभावनाओं को बढ़ाने के लिए पूरी ताकत से जुट गए हैं।