कियोस्क सेंटर संचालक ने महिलाओं के अंगूठे लगाकर खाते से निकाले रूपए - SHIVPURI NEWS

रन्नौद।
जिले के रन्नौद के ग्राम अकाझिरी में कियोस्क सेंटर संचालित करने वाले एक युवक ने लगभग डेढ़ दर्ज महिलाओं के खाते से रूपए आहरित कर लिए। आरोपी युवक ने महिलाओं के अंगूठे लगवाकर खातों से पैसे निकाले। जिसकी जानकारी पीडि़त महिलाओं को उस समय लगी जब वह अपनी पासबुक में एंट्री कराने बैंक पहुंचे। पुलिस ने इस मामले में आरोपी कियोस्क संचालक के खिलाफ भादवि की धारा 420 के तहत प्रकरण पंजीबद्ध कर लिया है।

जानकारी के अनुसार कुछ आदिवासी महिलाएं 27 अक्टूबर को अकाझिरी गांव में कियोस्क सेंटर का संचालन करने वाले रविंद्र पुत्र अमरसिंह यादव के यहां पहुंची। जहां आरोपी रविंद्र ने उक्त आदिवासी महिलाओं के अंगूठे थंब इ प्रेशन मशीन पर लगवा लिए। महिलाओं ने खाते से 2-2 हजार रूपए निकालने की बात कही।

लेकिन आरोपी ने उनके खाते से 3-3 हजार रूपए निकाल लिए और 2-2 हजार रूपए उन्हें देकर 1-1 हजार रूपए प्रति महिला के हिसाब से अपने पास रख लिए। पैसे निकालने के बाद एक महिला ममता पत्नी रघुवीर आदिवासी निवासी करौंदी बैंक में पासबुक लेकर एंट्री कराने पहुंची तो पासबुक में एक हजार रूपए कम थे।

जिस पर उसने बैंक में जानकारी ली तो उसे बताया गया कि 27 अक्टूबर को उसने 3 हजार रूपए आहरित किए हैं। जिस पर पीडि़ता ने बैंक प्रबंधन को बताया कि उसने तो सिर्फ 2 हजार रूपए ही निकाले थे। इसके बाद पीडि़ता कियोस्क संचालक के पास पहुंची और उससे 3 हजार रूपए निकालकर 2 हजार रूपए उन्हें देने का कारण पूछा तो कियोस्क संचालक ने उसे हडक़ाकर भगा दिया।

जब इस बात का पता अन्य महिलाओं को लगा तो उन्होंने भी अपने खाते का बैलेंस चैक कर पासबुक में एंट्री करवाई तो उनके खाते में भी रूपए कम थे। इसके बाद पीडि़त महिलाएं एकत्रित होकर थाने पहुंची। जहां पुलिस ने ममता आदिवासी की रिपोर्ट पर से आरोपी रविंद्र के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली।