सुरेश राठखेड़ा का सपोर्ट कर रहे है अधिकारी कर्मचारी, कांग्रेस ने हटाने के लिए लिखा निर्वाचन आयुक्त को पत्र - SHIVPURI NEWS

शिवपुरी।
पोहरी में होने बाले उपचुनाव को लेकर दोनों ही प्रमुख दल पूरे जोश में जुटे हुए है। कांग्रेस कोई भी दाबपेंच छोडना नहीं चाह रही है। अभी हाल ही में भगवान के नाम पर बोट मांगने का वीडियों बायरल किया। इसकी भी शिकायत चुनाव में की गई है। परंतु आज कांग्रेस के राजविहारी पाठक ने मुख्य निर्वाचन आयुक्त नईदिल्ली को पत्र लिखा है। जिसमें पोहरी क्षेत्र में अधिकारीयों पर चुनाव में सहयोग का आरोप लगाते हुए हटाने की मांग की है।

आयोग को लिखे पत्र में उन्होंने बताया है कि शिवपुरी जिले की पोहरी विधानसभा क्षेत्र 24 पर उपचुनाव होना है जहां आचार संहिता प्रभावशील है और आगामी 3 नवम्बर को मतदान होगा, पोहरी विधानसभा में इस समय कुछ शासकीय कर्मचारी एवं अधिकारियों द्वारा अपने पद का दुरुपयोग किया जा रहा है।

जिससे निष्पक्ष चुनाव सम्पन्न होने की सम्भावना कम है, जो अधिकारी कर्मचारी चुनाव आचार संहिता के विरुद्ध कार्य कर रहे हैं वे निम्न प्रकार हैं 1 पोहरी अनुविभाग में पदस्थ निरजन सिंह वर्मा जो कि धाकड़ समुदाय से हैं और विधानसभा से भाजपा प्रत्याशी सुरेश धाकड चुनाव मैदान में हैं।

पोहरी विधानसभा में एसडीओपी निरंजन सिंह वर्मा की मौजूदगी निश्चित रूप से चुनावों को प्रभावित कर सकती है और एक जाति विशेष का सपोर्ट 2 जिला आबकारी अधिकारी वीरेन्द्र सिंह धाकड भाजपा प्रत्याशी का नजदीकी रिश्तेदार है और उनकी इस इस जिले में मौजूदगी में चुनावों में शराब वितरण का बढ़ाया दे सकती है। भाजपा प्रत्याशी से जुड़े लोगों पर वे कार्यवाही करेंगे इस सम्भावना न के बराबर है और ऐसी स्थिति में चुनाव प्रभावित होगा।

पोहरी रेंज के रंजर केपीएस धाकड़ भी भाजपा प्रत्याशी के नजदीकी बताए जाते हैं और समय समय पर उनके और भाजपा प्रत्याशी सुरेश धाकड़ के फोटो भी वायरल हुए हैं, ऐसी स्थिति में केपीएस शाकड़ अपने पद का दुरुपयोग कर रेंज इलाके में निवासरत लोगों को भाजपा के पद में मतदान का दबाव बना सकते है।

इसके साथ ही शिवपुरी पीडब्ल्यूडी में सहायक यंत्री के पद पर पदस्थ हरिवल्लभ वर्मा पोहरी विधानसभा के मचा देवरी गान का रहने वाला है जो कि चुनाव के समय क्षेत्र में सकिय देखे गए हैं , पिछले चुनाव में भी हरिवल्लभ वर्मा द्वारा झगड़ा करवाया गया था। हरिवल्लभ वर्मा की जिले में विधानसभा में जो सक्रियता है वह चुनावों को प्रभावित कर रही है।

भाजपा प्रत्याशी सुरेश संठखेड़ा का छोटा भाई मस्तराम धाकड जो कि सहायक सचिव ग्राम पंचायत ग्वालीपुरा जनपद पंचायत पोहरी में पदस्थ है जो दिन भर चुनाव प्रचार में व्यस्त है जिसने पिछले दिनों जनपद सीईओ पोहरी के साथ मारपीट भी की थी हालांकि इस सम्बन्ध में कोई रिपोर्ट दर्ज नहीं हुई , इसकी क्षेत्र में मौजूदगी में चुनाव को प्रभावित कर रही है।

सहायक शिक्षक राजेन्द्र कुमार शर्मा ( पिपलौदा ) जो कि शिवपुरी विकासखण्ड के ग्राम गंगोरा में पदस्था है जिसे पिछले दिनों एक अधिकारी की वीडियो वायरल करने के कारण सस्पेंड किया जा चुका है और वे इस समय मुख्यालय पर शिवपुरी जिला शिक्षा कार्यालय में अटैच हैं लेकिन राजेन्द्रकुमार शर्मा पूरे समय भाजपा प्रत्याशी सुरेश धाकड़ के साथ सार्वजनिक रूप से भाजपा के पक्ष में लोगों को वोट देने की अपील करते नजर आ रहे हैं , भाजपा प्रत्याशी के प्रचार का भी सोशल मीडिया पर इनके द्वारा किया जा रहा है जिसका उदाहरण इनकी पोस्टों पर मिल सकता है।

इसके साथ ही इंद्रजीत सिंह धाकड जो कि सतनवाड़ा सबरेंज में रेंजर के पद पर पदस्थ है और सतनवाड़ा बीट के सभी गांव पोहरी विधानसभा में आते हैं। इन क्षेत्रों में इंद्रजीत सिंह धाकड़ की मौजूदगी संदेहास्पद हैं और पूरी सम्भावना है कि इंद्रजीत सिंह धाकड़ चुनावों को प्रभावित करेंगे। जिसपर से इन्हें तत्काल हटाने की मांग कांग्रेस ने की है।