गणेशोत्सव पर पाबंदी से असंतोष: जब उज्जैन-छिंदवाड़ा में धार्मिक आयोजन हो सकते हैं तो शिवपुरी में क्यों नहीं / Shivpuri News

शिवपुरी। देश में कोरोना काल का अब चरण लॉकडाउन से लेकर अनलॉक फेस में आ चुका है। मार्च के बाद अभी  तक जितने त्यौहार आए हैं सभी कोरोना की चपेट में आ चुके हैंं,अब शिवपुरी की शान कहलाने वाला गणेश चर्तुर्थी का त्योहार भी इस साल कोरोना में फस गया है। इस पूरे मामले में सबसे गौर करने वाली बात यह हैं कि इस बार मंदिरो में विघ्नहर्ता का प्रवेश नही होगा।

जानकारी के अनुसार कोरोना काल में ग्रह मंत्रालय के आदेश अनुसार किसी भी सर्वाजनिक स्थानो पर इस बार गणेश जी की स्थापना नही होगी। अब किसी भी शहर में किसी भी प्रकार का पंडाल भी नही होगा और मंदिरो में भी गणेश जी की स्थापना नही होगी।

प्रशासन ने आदेश दिए थे कि इस बार 1 फुट से अधिक उंचाई के गणेश जी प्रतिमा नही बनाई जाऐगी। इस कारण मार्केट में 1 फुट के गणेश जी बिकने को नही आए। शासन के आदेश अनुसार इस बार मंदिरो में 1 फुट के गणेश जी भी मंदिरो में भी विराजीत नही हो सकेंगें।

सदियो से चली आ रही मंदिरो पर गणेश स्थापना के टूटने के कारण भक्तो में असंतोष हैं। भक्तो का कहना हैं कि जब मंदिर खुल रहे हैं हम नियमो का पालन करके दर्शन करने जा रहे हैं तो मंदिरो पर 1 फुट के गणेश जी की स्थापना में क्या समस्या हैं।

इस मामले में बजरंग दल ओर विश्व हिन्दू परिषद के जिला मंत्री विनोद पुरी का कहना हैं कि यह सरासर गलत नियम हैं,जब मंदिर खुल रहे ओर भक्त आ रहे हैं तो गणेश जी के स्थापना में क्या परेशानी है। प्रशासन से हमारी मांग हैं कि हमे गणेश जी की स्थापना करने दें।

वही खेडापति मंदिर के मंहत लक्ष्मण दास त्यागी का कहना हैं कि प्रशासन का आदेश था कि 1 फुट से अधिक उंचाई की मुर्ति आप विराजित नही कर सकते लेकिन आज पता चला हैं कि अब मंदिरो में 1 फुट के गणेश जी भी रख विराजीत हो सकते है। हमारो सालो पुरानी परपंरा टूट रही हैं। वैसे इस समय मंदिरो में कम ही भक्त आ रहे हैं।

वैसे तो खेडापति मंदिर में गणेश जी की प्रतिमा स्थापित हैं लेकिन प्रतिवर्ष हम छोटी सी प्रतिमा अवश्य लाते थे,अब कल मंदिर में प्रतिमा स्थापित होगी या नही यह तो कल ही दखेंगें। हमारी प्रशासन से अपील है कि वह मंदिरो में प्रतिमा स्थापित होनेे दे हम शासन को वचन देत हैं कि पूरे नियमो का पालन किया जाऐगा।

वही राजेश्वरी मंदिर के मंहत विजयपुरी गोस्वामी का कहना हैं कि हमारे मंदिर पर गणेश जी की प्रतिमा हैं हम उन्ही की सेवा पूजा करते हैं हमारे मंदिर पर मुर्ति नही आती है। वही शिवपुरी के प्रसिद्घ भैरो बाबा मंदिर के पुजारी रघुनंदन उपाध्याय का कहना हैं कि वैसे तो हमारा गणेशत्सव शहर की शान हैं लेकिन अब हम प्रशासन के साथ हैं और हमे कोरोना से जंग लडना हैं हम इस वार विघ्नहर्ता से यही प्रार्थना करेंगें की बाबा इस कोरोना रूपी विघ्न को इस देश और संसार से हर ले जिससे अगले वर्ष बडी से बडी मुर्ति के रूप में हम आपको लेकर आए।