मामला मीडिया में आने के बाद कोरोना को मात देने वाले दीपक ने बदला अपना इरादा, अब नही बेचगें मकान | Shivpuri News

शिवपुरी। शिवपुरी के कोरोना पीडित मरीज इंजीनियर दीपक शर्मा ने अपना घर बेचने का इरादा बदल दिया है,इसकी विधिवत सूचना प्रशासन ने दी की अब दिपक का मकान बिकाउ नही हैं। दीपक शर्मा के पडौसियो ने कोरोना से सोशल डिस्टेंसिग का फार्मूला तो अपनाया साथ में दीपक से मानसिक डिस्टेंसिग भी बना ली थी। इससे आहत होकर दीपक शर्मा के परिजनो ने अपने मकान के बहार तख्ती टांग दी की ये मकान बिकाउ है।।

माधव विहार कॉलोनी में निवासरत इंजीनियर दीपक शर्मा दुबई में इंजीनियर है, दुबई से अपने देश और घर लोटे दीपक शर्मा कोरोना पॉजीटिव हो गए थे फिर ईलाज के बाद स्वस्थय होकर अपने घर भी लौट गए थे,जहां देश में जो मरीज कोरोना से फाईट कर स्वस्थय होकर आया उसका स्वागत किया जा रहा था। उसके हौसले की तारिफ की जा रही थी,लेकिन शिवपुरी में इसके उल्ट हो रहा था। दीपक के घर लौटने के बाद उसके पडौसी उससे गलत बर्ताव कर रहे थे।

12 अप्रैल को इस मामले को शिवपुरी समाचार डॉट कॉम ने प्रकाशित किया था। इसके बाद सोशल पर लोगो ने इसकी प्रतिक्रिया देनी शुरू कर दी। शिवपुरी की मीडिया से शुरू होकर यह मामला भोपाल ओर दिल्ली की मीडिया तक की सुर्खिया बन गया।

प्रशासन का कहना है कि दीपक के कोरोना संक्रमित हाेने के बाद दीपक के परिजन द्वारा होम क्वारेंटाइन के समय घर के बाहर घूमते थे। मना करने पर बहस करते थे। लेकिन यह बात अब पुरानी हो गई है।

दीपक ने भी कहा कि अब किसी से अनबन नहीं रही। एसडीएम अतेंद्र सिंह गुर्जर ने भी दीपक से चर्चा की। दीपक का कहना है कि वह फिलहाल अपना मकान नहीं बेचना चाहते। अब मकान नही बेचने की खबर का प्रेस नोट प्रशासन के द्धवारा रिलीज किया गया हैं।