यह पानी की टंकी प्यासी: बजट के फेर में थमे बडे टेंकरो के चक्के, 6 वार्डो में जल से संघर्ष | Shivpuri News

शिवपुरी। सिंध को सक्सैज करने भले ही शिवपुुरी की कलेक्टर साहिबा सडको पर उतर आई हो। नपा की प्रशासक होने के नाते वे नपा के कर कैंम्प में पहुंच रही हैं,लेकिन लगतार सिंध को झटके देने वाले खबर आ रही हैं। बताया जा रहा हैं कि शहर की पुरानी शिवपुरी ऐरिया में स्थित पीएचक्यू लाईन की पानी की अब प्यासी रह जाऐंगी। इस पानी की टंकी को भरने का एक मात्र सहारा बडे टेंकरो बजट के अभाव में खडे हो गए हैं।

उन्हें पिछले 7 माह से नगरपालिका ने भुगतान नहीं किया, जिसके चलते टैंकर मालिकों को डीजल व ड्राइवर का वेतन अपनी तरफ से ही देना पड़ रहा था।क्योंकि अभी तक तो नगर पालिका सीएमओ यह भरोसा दिला रहे थे कि अभी बजट नहीं आया है, लेकिन अब तो वह भुगतान करने के संबंध में कोई बात नहीं कर रहे।

वहीं नगरपालिका सब इंजीनियर का कहना है, सिंध जल जलावर्ध योजना के तहत पीएसक्यू लाइन की कनेक्टिविटी कर दी गई है। अब लाइन की टेस्टिंग करने के बाद टंकी को भरने का प्रयास किया जाएगा। चूंकि सिंध की सप्लाई का कुछ भरोसा नहीं है, ऐसे में यह टंकी कब तक भर पाएंगे यह कहना मुश्किल है।

छह वार्डों में गहराई का जल संकट

पीएसक्यू टंकी से शहर में वार्ड 21, 22, 23, 24, 25 व 26 के कुछ हिस्सों में पानी सप्लाई होता है। क्योंकि यहां आसपास कोई जल स्त्त्रोत नहीं है, जिससे टंकी जोड़ी हो, इसलिए इससे बड़े टैंकरों से भरने के बाद आसपास के सभी वार्डों में सप्लाई दी जाती थी। अब टंकी भरने वाले टैंकर ही खड़े कर दिए गए तो उक्त सभी बालों में जल संकट गहराना तय हैं।

ठेकेदार ने बताया,अभी से ही वार्ड के लोगों ने फोन करके पानी सप्लाई ना होने का कारण पूछना शुरू कर दिया। यह एरिया पुरानी शिवपुरी के अंतर्गत आता है जहां पानी ना मिलने की वजह से लोगों का आक्रोश फूट तय है। क्योंकि, अब गर्मी भी शुरू हो गई है, ऐसे में पानी की खपत बढ़ना तय है।