दिनारा में श्रृद्धालुओं का स्वागत: तीर्थ स्थलों से लौटी 38 दिवसीय यात्रा

करैरा। जिले के करैरा के दिनारा में परिवार सहित क्षेत्र में अमन चैन, सुख, शांति व समृद्धि की कामना को लेकर तीर्थ स्थलों की 38 दिवसीय यात्रा पर बस द्वारा निकले दिनारा, करैरा, राजगढ़, थनरा, सोनर, छितिपुर, हिम्मतपुर, जिगनिया आदि ग्राम के 65 श्रद्धालु थे शामिल। यात्रा की मंगलकामना को लेकर दिनारा कस्बे की शीतला माता मंदिर पर श्रद्धालुओं ने दर्शन कर 31 दिसम्बर को यात्रा आरंभ की थी।

इसके पश्चात ओरछा धाम सरकार के दर्शन कर यात्रा का विधिवत शुभारंभ किया । यात्रा में शामिल श्रद्धालु ख्यालीराम गुप्ता व शिवचरण ने बताया कि तीर्थ स्थलों की यात्रा करने से मन को अपार शांति व पाप नष्ट होते है ।मंदिरों और तीर्थों को ऊर्जा का केंद्र माना जाता है। जहा नकारात्मक विचार नष्ट होकर सकारात्मक सोच वनती है । इसी वजह से मंदिर या तीर्थ पर जाने से हमारे मन को शांति मिलने के साथ शरीर मे सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह होता है।

जब गुरुवार 7 फरवरी को 38 दिवसीय यात्रा कर लौटे क्षेत्र के 65 श्रद्धालु दिनारा आगमन हुआ तो कस्बे के नीलेश गुप्ता द्वारा ढोल बजाकर उनका स्वागत किया । साथ ही अपने निवास पर नीलेश ने सबको टीका लगाकर नारियल भेट किए और स्वल्पाहार कराया। इस दौरान सतीश फौजी व जयजय वकील, कृपाराम महाते, राजा परिहार, रिंकू सुहाने, मनोज सुहाने, नरेश सुहाने एवं भावना केके रूसिया पत्रकार ने सभी श्रद्धालुओं को नारियल भेट कर आशीर्वाद लिया ।

तीर्थ व धार्मिक स्थलों की यात्रा कर लौटे श्रद्धालुओं में ओरछा धाम सरकार, मैहर की माता, चित्रकूट धाम, प्रयागराज, काशी वनारस, गया एवं वुद्ध गया, गोरखपुर, नेपाल, कलकत्ता में काली माता, जगन्नाथपुरी, साक्षी गोपाल, तिरूपति बालाजी, शिरडी के साईं बाबा, मीनाक्षी देवी, द्वारकापुरी, पुष्कर, मेंहदीपुर बालाजी, मथुरा वृंदावन आदि शामिल है।