मंत्री के बयान से नाराज: किसानो के खेतो में जाने बजाए पटवारी बैठे तम्बू ठोककर | Shivpuri News

शिवपुरी। जिले के पटवारी शनिवार से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए हैं, कामकाज ठप हो गया है। उनका कहना है कि वे अब कोई काम नहीं करेगें। मंत्री जीतू पटवारी के बीते दिनों सार्वजनिक मंच से पटवारी लेते हैं, रिश्वत देने वाले बयान से नाराज जिले भर के पटवारियों ने तहसील के सामने तंबू गाढ दिया है। सबसे पहले ज्ञापन देकर तीन दिन की चेतावनी दी थीे।

मंत्री पटवारी से पटवारियों ने बयान को लेकर माफी मांगने को कहा था लेकिन बात नहीं बनी तो पटवारियों ने बस्ते जमा करवा दिए। उसके बाद भी बात नहीं बनी तो आज से वे हड़ताल पर चले गए हैं। आज उन्होंने टेंट लगाकर हड़ताल आरंभ कर दी है। इसका सीधा असर उन किसानों पर पडने वाला है, जिनकी फसलें ज्यादा बारिश से खेतों में ही खराब हो गई हैं। उनका नुकसान हो गया है। वे सर्वे की वाट जोह रहे हैं, लेकिन हडातल के चलते अब पटवारी खेतों में जाने की बजाए टेंट लगाकर कांग्रेस के मंत्री जीतू पटवारी मुर्दाबाद के नारे लगा रहे हैं।


अतिव्रष्टि और खेतों में बारिश का पानी भर जाने से किसानों की सोयाबीन, उडद, मूूंगफली, तिल्ली सहित टमाटर की फसल को पूरी तरह से नुकसान हुआ है और किसान बर्बादी की कगार पर आ गए हैं। किसानों का कहना है कि बारिश अधिक होने से खेतों में पानी भरा रह गया जिससे मूंगफली दोबारा से उगने लगी तो वहीं उडद के दाने पींकने लगे हैं। वहीं टमाटर की फसल पूरी तरह से गल गई हैं। कुल मिलाकर किसान बारिश से अच्छी फसल की उम्मीद लगाए बैठे थे लेकिन अधिक बारिश ने उनके अरमानों पर पानी फेर दिया है।

सर्वे न होने से किसानों में नाराजगी

इधर अतिव्रष्टि के चलते किसानों की फसलें खराब हो गई हैं तो वहीं अन्नादाता के आंसू पौंछने की वजाय उनके खेतों का सर्वे तक सरकार ने नहीं कराया है। किसानों का कहना है कि अन्नादाता पर जब संकट की घडी आई तो सरकार ने उनके खेतों की ओर रूख तक नहीं किया है। वहीं पहले चना और उडद सरकारी केंद्रों पर बेचा था उसका भुगतान नहीं हुआ है। ऐसे में खराब हुई फसल का सर्वे तक नहीं हुआ है तो मुआवजे की आस किससे लगाएं। अगली फसल पर भी संकट खडा हो गया है जो कर्ज लिया था वह भी नहीं पट पाएगा तो उन्हें दूसरी बार कर्ज कैसे मिलेगा। दीपावली सिर पर है। त्यौहार तक मनाना मुश्किल हो रहा है।

भाजपा जिलध्यक्ष सुशील ने कहा, कांग्रेस राम नाम की लूट में जुटी

इस गंभीर मसले को लेकर जब हमने भाजपा के जिलाध्यक्ष सुशील रघुवंशी से पूछा कि किसानों की खराब फसलों का सर्वे पटवारिसों की हड़ताल पर जाने के साथ कैसे हो सकेगा। तो उन्होंने कांग्रेस पर तीखा हमला बोलते हुए कहा कि कुलिमलाकर कांग्रेस की कमलनाथ सरकार को आमजन की समस्याओं से कोई लेना देना नहीं है। ट्रांसफर उद्योग चलाने वाली सरकार जनता का भला नहीं कर सकती।

वचन पत्र पर अमल नहीं हुआ। जहां तक सर्वे का सवाल है, जानबूझकर ऐसा स्टेटमेंट दिया गया है, कि किसानों को समय पर भुगतान ना करना पडे। छुटभैया कांग्रेसी मलाई छानने में जुटे हुए हैं। जमकर भ्रष्टाचार किया जा रहा है। कांग्रेस के सबसे ज्यादा सरपंच होने के बाद भी जनता का हित पूरा ना करके भ्रष्टाचार कर रहे हैं। रामनाम की लूट मचा रखी है। पटवारी तो छोडिए अब तक पंचायत अधिकारी, ग्रामीण विकास अधिकारी, कृषि अधिकारी तक गंवों में नहीं पहुंचे हैं। किसानों को बीमा राशि नहीं दी गई बल्कि उन्हें चना, मसूर का आज तक भुगतान नहीं किया गया है। बोनस, भत्ता तक नहीं दिया गया है।


भाजपा जिलाध्यक्ष सुशील ने कहा कि किसानों का दर्द समझ में इसलिए आता है। कि ख्ुद हम बारिश से नहीं बच सके। उडद निकाली थी। जिसे खेत में सूखने डाली इतने में बारिश आ गई मेरेी खुद की 10 पसेरी उडद वानी में बह गई। कुछ दालान में पडी हुई है। अंदाजा लगाया जा सकता है कि किसान कितने परेशान होगें। पानी इतना बरसा है कि खेत में फसलें उगने लग गई हैं। लेकिन हमारी भाजपा सरकार होती तो हम कब से उनके आंसू पोंछकर उनकी मदद कर चुके होते।

कांग्रेस जिलाध्यक्ष बैजनाथ बोले, सीएम ने कर दी घोषणा, कोई सर्वे नहीं बीघा के हिसाब से करेगें भुगतान
भाजपा जिलाध्यक्ष के बयान को लेकर जब कांग्रेस जिलाध्यक्ष बैजनाथ सिंह यादव से पूछा कि किसानों का सर्वे नहीं हो पा रहा। मंत्री पटवारी के बयान से नाराज जिले के पटवारी हड़ताल पर चले गए। भाजपा आरोप लगा रही कि कांग्रेस जानबूझकर ऐसा कर रही। तो यादव ने कहा कि दो दिन पहले ही सीएम ने पटवारियों के इस कदम को लेकर कह दिया है कि वे बीघा के हिसाब से पूरा मुआवजा बिना किसी सर्वे के करेगें।

जिन किसानों का नुकसान हुआ है उन्हें सरकार बिना सर्वे के मुआवजा देगी। जब उनसे पूछा गया कि क्या कांग्रेस ने इसके लिए कोई रणनीति तैयार की है कि वह किस तरह जिले के किसानों की बीच जाकर मुआवजे की बात बताएगी और उन्हें मुआवजा दिलाएगी तो जिलाध्यक्ष बैजनाथ ने कहा हम सीएम के वयान के बाद आदेश कलेक्टर के पास आने का इंतजार कर रहे हैं। सोमवार को हम कलेक्टर से इस संबंध में मिलने जाएंगे।