प्रसूता की मौत, चिकित्सकों पर फिर लगे लापरवाही के आरोप, चिकित्सालय में सुरक्षित नहीं है प्रसूताएं | Shivpuri News

शिवपुरी। जिला चिकित्सालय में चिकित्सकों की लापरवाही के चलते एक बार फिर प्रसूता की मौत हो गई हैं। जब जिला चिकित्सालय में प्रसूतायें सुरक्षित नहीं हैं तो सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों की हालत क्या होगी? करैरा तहसील के अंतर्गत आने वाले छिरारी गांव की एक प्रसूता महिला करैरा से शिवपुरी जिला अस्पताल में प्रसव कराने के लिए भर्ती कराई गई थी। लेकिन प्रसव के दौरान चिकित्सक व अन्य कर्मचारियों की लापरवाही के चलते प्रसूता महिला की मौत हो गई।

जानकारी के अनुसार करैरा तहसील के अंतर्गत आने वाले ग्राम छिरारी की प्रीति पत्नि जितेन्द्र बघेल को प्रसव के लिए जिला चिकित्सालय में आज दोपहर 12:20 मिनिट पर भर्ती कराया गया था। जिसका प्रसव चिकित्सक डॉ. प्रियंका जैन द्वारा 3:30 बजे सामान्य स्थिति में प्रसव कराया गया और बच्चे को जन्म दिया।

लेकिन जच्चा को अत्याधिक ब्लैड रिसाव होने के कारण लगभग शाम 6 बजे ग्वालियर के लिए रैफर कर दिया गया और जच्चा के परिजनों द्वारा उसे ग्वालियर ले जाते समय शिवपुरी स्थित ग्वालियर वायपास पर जच्चा की मौत हो गई। जच्चा की मौत  होने के बाद उसके पति जितेन्द्र बघेल व ससुर होतम सिंह पुन: जिला चिकित्सालय लेकर पहुंचे जहां उन्होंने प्रसूता की मौत का जिम्मेदार चिकित्सक व स्टाफ नर्सों को बताया।